मेला -2022 के तैयारियों से संबंधित समीक्षात्मक बैठक समाहरणालय सभाकक्ष में जिलाधिकारी मुजफ्फरपुर प्रणव कुमार की अध्यक्षता में की गई।

0
39

मुजफ्फरपुर:श्रावणी मेला -2022 के तैयारियों से संबंधित समीक्षात्मक बैठक समाहरणालय सभाकक्ष में जिलाधिकारी मुजफ्फरपुर प्रणव कुमार की अध्यक्षता में की गई। मालूम हो कि इसके पूर्व 2019 में श्रावणी मेले का आयोजन किया गया था। लगभग 3 साल के अंतराल पर 2022 में श्रावणी मेले का आयोजन होगा।उक्त आयोजन सफलतापूर्वक संपन्न कराने, कांवरियों के लिए मूलभूत सुविधाएं मुहैया कराने एवं सुरक्षा व्यवस्था के माकूल इंतजामात करने के मद्देनजर आज की बैठक आयोजित की गई।

बैठक में निर्णय लिया गया कि 17 जुलाई 2022 को डीएन हाई स्कूल में श्रावणी मेले का उद्घाटन होगा।

आरसीडी, नगर निगम एवं अन्य संबंधित विभागों के अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि बाबा गरीब नाथ मंदिर तक जाने वाली सभी सड़कों के साथ-साथ शहर के अन्य सभी सड़कों को दुरुस्त करने की दिशा में त्वरित गति से कार्य करना शुरू कर दे दे। बैठक में लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग ,विद्युत विभाग स्वास्थ्य विभाग ,पथ निर्माण विभाग, जिला जनसंपर्क विभाग सहित अन्य संबंधित विभागों को श्रावणी मेला को लेकर कार्य योजना शीघ्र बनाने का निर्देश दिया गया। नगर निगम द्वारा कचरे के समुचित प्रबंधन करने के साथ शहर की साफ सफाई को लेकर विशेष निर्देश दिए गए। विद्युत विभाग को मेला आयोजन के दौरान विद्युत के समुचित प्रबंधन कर आवश्यक कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया। अनुमंडल पदाधिकारी पूर्वी और कार्यपालक अभियंता आरसीडी को संयुक्त रूप से सभी सड़कों का भौतिक निरीक्षण कर अविलंब प्रतिवेदन देना सुनिश्चित करेंगे। वही फकुली से रामदयालु तक फ्लैनक/सड़क का आवश्यक मरम्मत करने का निर्देश परियोजना निदेशक हाजीपुर को दिया गया ताकि श्रद्धालु कावड़ियों को आवागमन में किसी प्रकार की कठिनाई न हो। फकुली से बाबा गरीब नाथ मंदिर के सड़क के किनारे फ्लेंक पर आवागमन को सुगम बनाने हेतु मिट्टी बालू डालने का कार्य संबंधित पथ निर्माण विभाग के द्वारा किया जाएगा। साथ ही फकुली से बाबा गरीब नाथ मंदिर तक सड़क के किनारे स्प्रिंकलर से पानी छिड़काव पीएचईडी केद्वारा किया जाएगा ।श्रद्धालु कांवरियों के जलाभिषेक हेतु मंदिर तक आने वाले राष्ट्रीय उच्च पथ 77 एवं राष्ट्रीय उच्च पथ 102 पर यातायात नियंत्रण/ सुरक्षा के संबंध में आवश्यक व्यवस्था गठित समिति के पदाधिकारियों के द्वारा कराया जाएगा। इस हेतु आवश्यक कार्य योजना तैयार कर लिया जाने का निर्देश दिया गया। कावरियों के लिए निर्धारित ठहराव स्थल पर सभी मूलभूत सुविधाओं यथा:- शौचालय पेयजल और स्नानघर की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश संबंधित विभाग को दिए गए। अनुमंडल पदाधिकारी पूर्वी को निर्देश दिया गया है कि सभी धर्मशाला के प्रबंधकों के साथ बैठक कर लेंगे। वही बैठक में साफ-सफाई एवं प्रकाश की व्यवस्था सुनिश्चित करने का निर्देश नगर आयुक्त को दिया गया। सिविल सर्जन को निर्देश दिया गया कि फकुली से लेकर आगन्तुक काउंटर तक दो मोबाइल एंबुलेंस का परिचालन सुनिश्चित कराएंगे और दो मोबाइल एंबुलेंस बाबा गरीब नाथ मंदिर स्थित नियंत्रण कक्ष के पास रखना सुनिश्चित करेंगे। अन्य सभी महत्वपूर्ण स्थलों पर स्वास्थ्य कैम्प की व्यवस्था की जाएगी। सभी ठहराव स्थलों पर पर्याप्त प्रकाश की व्यवस्था सुनिश्चित कराने का निर्देश विद्युत विभाग को दिया गया।बैठक में महत्वपूर्ण निर्णय लिया गया कि म बाबा गरीब नाथ मंदिर से 500 मीटर की परिधि में निजी रूप से किसी केभी द्वारा माइक एवं डीजे बजाने पर प्रतिबंध रहेगा। भीड़ नियंत्रण एवं यातायात नियंत्रण को लेकर ट्रैफिक डीएसपी एवं एसडीओ पूर्वी को विशेष निर्देश दिए।सभी निर्देशों का अनुपालन की समीक्षा अगले बैठक में की जाएगी। सुरक्षा का माकूल प्रबंध किया जाएगा ।पर्याप्त संख्या में पुलिस अधिकारियों और दंडाधिकारी की प्रतिनियुक्ति की जाएगी।जिला प्रशासन के द्वारा विभिन्न समितियों का गठन किया जाएगा और उक्त समितियों के द्वारा उन्हें दिए गए कर्तव्यों का निर्वहन ससमय करने का निर्देश दिया गया। श्रावणी मेला के अवसर पर पूर्ण रूप से अभेद सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया है।द्वितीय एवं तृतीय सोमवार को भीड़ पर प्रभावी नियंत्रण हेतु पर्याप्त संख्या में दंडाधिकारी/ पुलिस अधिकारी ,पुलिस बल एवं बीएमपी की महिला बटालियन पर्याप्त संख्या में प्रतिनियुक्त होंगे।सैप के जवान, एनसीसी एवं भारत स्काउट एवं गाइड के कैडेट्स भी तैनात किए जाएंगे। एसडीओ पूर्वी को निर्देशित किया गया कि एनसीसी एवं भारत स्काउट एवं गाइड के पदाधिकारी के साथ बैठक कर लेंगे।बाबा गरीब नाथ मंदिर स्थित नियंत्रण कक्ष में लगातार सीसीटीवी कैमरे से सभी गतिविधियों का अवलोकन कराने हेतु पुलिस पदाधिकारियों की प्रतिनियुक्ति वरीय पुलिस अधीक्षक मुजफ्फरपुर के स्तर से की जाएगी। कार्यपालक अभियंता भवन प्रमंडल मुजफ्फरपुर को निर्देश दिया गया कि अनुमंडल पदाधिकारी पूर्वी से समन्वय स्थापित कर सभी महत्वपूर्ण स्थलों पर वाच टावर का अधिष्ठापन सुनिश्चित कराएंगे ताकि मेला की समस्त गतिविधियों पर नजर रखी जा सके। श्रावणी मेला के अवसर पर पूर्व वर्ष की भांति इस वर्ष भी मंदिर के पास एक नियंत्रण कक्ष की स्थापना की जाएगी जहां पर्याप्त संख्या में अधिकारियों एवं पुलिस पदाधिकारियों की प्रतिनियुक्ति की जाएगी। इसके अतिरिक्त कावरिया पथ यथा;- फकुली, माधौल एवं सकरी सरैया आदि में भी नियंत्रण कक्ष बनाया जाएगा।

बैठक में नगर आयुक्त विवेक रंजन मैत्रेय,उप विकास आयुक्त आशुतोष द्विवेदी, अपर समाहर्ता राजस्व राजेश कुमार, अपर समाहर्ता आपदा डॉ अजय कुमार, सिविल सर्जन मुजफ्फरपुर ,टाउन डीएसपी, मुख्यालय डीएसपी, दोनों अनुमंडल पदाधिकारी के साथ जिला स्तरीय विभिन्न विभागों के पदाधिकारी उपस्थित थे। उनके अतिरिक्त बैठक में विभिन्न सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधि;- अध्यक्ष रेड क्रॉस उदय शंकर सिंह ,वार्ड पार्षद संजय केजरीवाल के पी पप्पू ,बाबा गरीब नाथ मंदिर के मुख्य पुजारी विनय पाठक, ट्रस्ट के सचिव एनके सिन्हा, चेंबर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष पुरुषोत्तम पोद्दार तथा अन्य गणमान्य उपस्थित थे।