एनडीटीवी पत्रकार कमाल खान के निधन से पत्रकारिता जगत के लिए अपूर्णनीय क्षति।

0
85

एनडीटीवी पत्रकार कमाल खान के निधन से पत्रकारिता जगत के लिए अपूर्णनीय क्षति।

पातेपुर(वैशाली) (आससे)नागेन्द्र कुमार

पातेपुर में शनिवार को एक शोक सभा सम्पन्न हुई.शोक सभा मे एनडीटीवी के वरिष्ठ पत्रकार कमाल खान के शुक्रवार की सुबह हुई अचानक मौत पर गहरा दुःख व्यक्त करते हुए 2 मिनट का शोक व्यक्त किया गया.वक्ताओं ने कहा कमाल खान का अचानक जाना पत्रकारिता जगत के लिए अपूर्णनीय क्षति हुई है.कमाल खान का खबर करने का अंदाज उनको औरो से अलग था.लगभग तीन दशकों से टीवी पत्रकारिता से जुड़े कमाल खान के देश ही नही वरन विदेशो में भी प्रशंसक थे.कमाल खान अपने पीछे परिवार में पत्नी रुचि और तीन दशक तक पत्रकारिता के क्षेत्र में जो अमित छाप छोड़ी है वह सभी पत्रकारों के लिए प्रेरणा दायक है.महुआ अनुमंडल पत्रकार क्लब के महासचिव नागेन्द्र राय ने उनके निधन पर गहरा दुःख व्यक्त करते कहा कि कमाल खान के निधन से पत्रकारिता में जो रिक्त हुआ है उसकी भरपाई निकट भविष्य में संभव नही है है.उनके निधन पर महुआ अनुमंडल पत्रकार क्लब के अध्यक्ष मजहर हसन, महासचिव नागेन्द्र राय, संरक्षक मोहन कुमार सुधांशु के अलावे रमेश प्रसाद सिंह, संतोष वर्मा, नवनीत कुमार, संजय झा, कौशल किशोर सिंह, राहुल कुमार, सुधीर कुमार, अरुण श्रीवास्तव,मो एहतेशाम, गोपाल कुमार, रंजीत कुमार, आशुतोष आनंद, देवेंद्र कुमार राय , रत्नेश शर्मा, ब्रजेश, प्रभात ठाकुर, सुनील चौधरी, अमरेश कुमार शर्मा, पी भी प्रशांत, सुधीर झा, विजय झा, शैलेन्द्र पांडेय, संजीव कुमार, राजकुमार साह, पिंटू कुमार, दिपक कुमार, उमेश कुमार विप्लवी, वरिष्ठ पत्रकार राम नाथ विद्रोही, नरेंद्र कुमार सिंह,सत्येंद्र सिंह, नवीन कुमार सिंह, सुधीर कुमार मालाकार ,प्रभंजन मिश्रा, प्रशांत कुमार, मो नसीम रब्बानी पत्रकारो ने गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए उनकी आत्मा की शांति हेतु प्रार्थना की है.वही महुआ अनुमंडल पत्रकार क्लब के संस्थापक में एक गुरु दलाल शास्त्री एवम चर्चित पत्रिका तापमान के उप संपादक अरविंद झा समेत तीन पत्रकार के खोने से पत्रकारों में शोक की लहर दौड़ गई.