समाहरणालय सभाकक्ष में जिलाधिकारी मुजफ्फरपुर प्रणव कुमार की अध्यक्षता में शिक्षा विभाग की समीक्षात्मक बैठक की गई।

0
127

मुजफ्फरपुर:बैठक में जिलाधिकारी द्वारा निर्देशित किया गया कि सभी प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी एवं जिला स्तरीय शिक्षा विभाग के पदाधिकारी विद्यालयों का नियमित अनुश्रवण करें। जिसमें कम से कम प्रत्येक सप्ताह किसी एक प्रखण्ड में चयनित विद्यालयों का निरीक्षण करना सुनिश्चित करें।निर्देश दिया गया कि शिक्षकों की नियमित उपस्थिति सुनिश्चित कराई जाए।साथ ही विद्यालय में मोबाइल का प्रयोग गैर शैक्षणिक कार्यों हेतु न किया जाय। मध्यान भोजन के पश्चात बच्चे विद्यालय में रुक कर पढ़ाई करें इस हेतु खेलकूद एवं अन्य सह पाठ्यकर्मिक गतिविधियों का रोचक आयोजन करना सुनिश्चित किया जाए।

बैठक में शिक्षा विभाग के द्वारा जानकारी दी गई कि विभिन्न स्कूलों में शिक्षक सिर्फ आवेदन देकर छुट्टी में चले जाते हैं। जिस पर जिला शिक्षा पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि अब वैसे स्कूल जहां 5 से कम शिक्षक हैं वहां एक बार में एक शिक्षक को एवं वैसे स्कूलों में जहां 5 से अधिक शिक्षक हैं वहां एक बार मे 2 शिक्षकों की छुट्टियां स्वीकृत की जा सकेंगी। विशेष परिस्थिति में वरीय पदाधिकारी से आदेश लेकर छुट्टी ली जा सकती है।

जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि सभी स्कूलों में बच्चों की उपस्थिति सुनिश्चित की जाए।जो लगातार अनुपस्थित हैं उसे चिन्हित करते हुए उनका नामांकन रद्द किया जाए। ऐसे विद्यार्थियों को 15 दिसंबर तक चिन्हित कर संख्यात्मक प्रतिवेदन उपलब्ध कराना सुनिश्चित किया जाए और 31 दिसंबर तक उनका नामांकन रद्द किया जाए इस कार्य में कोताही होने पर संबंधित प्रधानाध्यापक एवं पदाधिकारी पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। साथ ही निर्देश दिया गया कि वैसे अभिभावकों से इस आशय का शपथ पत्र लेना सुनिश्चित करें कि उनके द्वारा अपने बच्चे को एक ही स्कूल में नामांकन कराया गया है। इसे अत्यंत ही गंभीरता से लेने का निर्देश जिलाधिकारी के द्वारा दिया गया।

बैठक में जिला कार्यक्रम अधिकारी माध्यमिक शिक्षा एवं साक्षरता को निर्देशित किया गया कि बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा आयोजित मैट्रिक एवं इंटरमीडिएट के वार्षिक परीक्षा के परिणाम के आधार पर परफॉर्मेंस के अनुसार विद्यालयों की ग्रेडिंग की जाए। पूर्व में भी इस आशय का निर्देश दिया गया था जिसका निराकरण अभी तक नहीं किए जाने पर जिलाधिकारी ने सख्त नाराजगी प्रकट की और जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देशित किया गया कि एक सप्ताह के अंदर परफॉर्मेंस के आधार पर स्कूलों का ग्रेडिंग करना सुनिश्चित करें।

विद्यालयों में अध्ययनरत दिव्यांग बच्चों को 15 दिसंबर तक चिन्हित करने का निर्देश दिया गया। सभी प्रखंड शिक्षा अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि प्रत्येक प्रखंड से 5-5 विद्यालयों का एवं सभी बीआरपी 3-3 विद्यालयों का चयन कर इसकी सूची 2 दिन के अंदर उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। उक्त सभी 155 विद्यालयों का निरीक्षण जिला स्तरीय पदाधिकारियों द्वारा किया जाएगा और देखा जाएगा कि सरकार द्वारा तय मानक के आधार पर पठन-पाठन किया जा रहा है कि नहीं। 15 दिसंबर के बाद इसकी जांच कराई जाएगी।

विद्यालय भवन निर्माण से संबंधित प्रशासनिक कार्यों की समीक्षा की गई तथा निर्देशित किया गया कि जिन विद्यालयों में अभी तक शौचालय तथा अतिरिक्त वर्ग कक्ष निर्माण कार्य अपूर्ण है तथा लंबित है, का निर्माण अति शीघ्र करवा लें तथा आवश्यक कार्रवाई करना सुनिश्चित करें।
बैठक में जिला शिक्षा पदाधिकारी, जिला कार्यक्रम पदाधिकारी सर्व शिक्षा अभियान, जिला जन-संपर्क अधिकारी कमल सिंह सहित सभी प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी उपस्थित थे