बिहार पटना द्वारा वर्चुअल मोड में जल- जीवन- हरियाली जागरूकता अभियान विषय पर परिचर्चा का आयोजन किया गया

0
89

जल -जीवन -हरियाली अभियान के अंतर्गत प्रत्येक माह के प्रथम मंगलवार को जल- जीवन -हरियाली दिवस कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है।इस क्रम में आज जन संपर्क विभाग ,बिहार पटना द्वारा वर्चुअल मोड में जल- जीवन- हरियाली जागरूकता अभियान विषय पर परिचर्चा का आयोजन किया गया।

जिला स्तर पर उक्त कार्यक्रम समाहरणालय सभा कक्ष में आयोजित हुआ जिसमें विभिन्न विभागों के अधिकारियों ने अपनी उपस्थिति सुनिश्चित की।

कार्यक्रम के आरंभ में सचिव सूचना एवं जनसंपर्क विभाग-सह- सचिव माननीय मुख्यमंत्री श्री अनुपम कुमार ने जल -जीवन -हरियाली अभियान के बारे में विस्तृत जानकारी उपलब्ध कराई। उन्होंने उक्त अभियान के उद्देश्य एवं इसके लाभ के बारे में बिंदुवार जानकारी साझा की। वहीं उप सचिव सूचना एवं जनसंपर्क विभाग श्री संजय कृष्ण ने कार्यक्रम का संचालन करते हुए कहा कि जल- जीवन- हरियाली अभियान का उद्देश्य जलवायु परिवर्तन में सुधार करना,पर्यावरण को दूषित होने से बचाना ,पशु पक्षियों का जीवन बचाना और राज्य में अधिक से अधिक हरित आवरण तैयार करना है। उन्होंने कहा कि विभिन्न विभागों के समन्वय से उक्त अभियान को धरातल पर उतारने के मद्देनजर सरकार द्वारा गंभीर प्रयास किए जा रहे हैं जिसका लाभ दिख रहा है।

कार्यक्रम में श्री दीपक कुमार सिंह संयुक्त निदेशक पशु एवं मत्स्य संसाधन विभाग ने फसल अवशेष प्रबंधन के बारे में साथ ही विभिन्न माध्यमों के द्वारा किसानों को कैसे जागरूक किया जा रहा है इस संबंध में उन्होंने विस्तृत जानकारी उपलब्ध कराई।

परिचर्चा को आगे बढ़ाते हुए दीपक कुमार सिंह अपर प्रधान मुख्य वन संरक्षक वन एवं पर्यावरण विभाग ने कहा कि आज की परिचर्चा का मुख्य विषय जल-जीवन-हरियाली जागरूकता अभियान है। उन्होंने विशेष तौर पर समुदाय को हरित आवरण बढ़ाए जाने के अभियान में किस तरह से जोड़ा गया एवं उन्हें इसके महत्व को लेकर कैसे जागरूक किया जा रहा है उस सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी मुहैया कराई।

वही परिचर्चा में अशोक कुमार मुख्य अभियंता पीएचईडी ने नल के जल के दोहन के संबंध में ,पुरानी जल संरचना का संरक्षण ,नए जल स्रोतों के निर्माण के संबंध में विस्तृत जानकारी मुहैया कराई। साथ ही इस संबंध में विभाग द्वारा विभिन्न माध्यमों से किए जा रहे जागरूकता अभियान के बारे में भी बताया। परिचर्चा में श्री नवल किशोर संयुक्त निदेशक चकबंदी ने भी निर्धारित विषय पर अपनी महत्वपूर्ण राय रखी।

कार्यक्रम में धन्यवाद ज्ञापन सहायक निदेशक सूचना जनसंपर्क विभाग श्री लाल बाबू सिंह ने किया। वहीं जिला स्तर पर कार्यक्रम में जिला जनसंपर्क अधिकारी कमल सिंह, जिला कृषि अधिकारी शिलाजीत सिंह ,कार्यपालक अभियंता पीएचइडी,स्वास्थ्य विभाग एवं नगर निगम के पदाधिकारी , डीआरडीए के पदाधिकारी एवं कर्मी तथा अन्य विभागों के पदाधिकारी उपस्थित थे।