61वीं शहीद वीर पशुपतिनाथ मेडल और प्रशस्ति पत्र वितरण समारोह में तिरहुत क्षेत्र से चयनित 40 पुलिसकर्मियों को किया गया सम्मानित

0
212

मुजफ्फरपुर: 61वीं शहीद वीर पशुपतिनाथ मेडल और प्रशस्ति पत्र वितरण समारोह में तिरहुत क्षेत्र से चयनित 40 पुलिसकर्मियों को सम्मानित करते हुए आईजी गणेश कुमार ने कहा कि आज पुलिस की जिम्मेदारी बढ़ गयी है,समाज के हर व्यक्ति को पुलिस से सहयोग और त्वरित न्याय की अपेक्षा है और उन्हीं उम्मीदों और अपेक्षाओं पर खरा उतरना हमारा लक्ष्य है। उक्त कार्यक्रम आज समाहरणालय सभागार मुजफ्फरपुर में आयोजित किया गया। आईजी गणेश कुमार ने अपने संबोधन में कहा कि आप सभी इमानदारी पूर्वक पूरी गंभीरता के साथ अपने कर्तव्यों के निर्वहन की दिशा में प्रभावी कार्य करें।कर्तव्यों की प्रवृत्ति को महत्व दें। कहा कि आपके द्वारा किए गए कार्य एवं दायित्वों का गंभीरता पूर्वक निर्वहन से आम जनता की उम्मीदों पर आप खरा उतरते हैं और वही आपकी असल कामयाबी है।उन्होंने कहा कि यह समारोह वर्ष 1960 से लगातार हो रहा है जो पुलिस और समाज के बीच अटूट संबंध का परिचायक है।इस अवसर पर उपस्थित जिलाधिकारी मुज़फ़्फ़रपुर प्रणव कुमार ने कहा कि पुलिस एक ऐसा संगठन है जो समाज विरोधी कार्यो पर नियंत्रण लगाकर सामाजिक व्यवस्था और शांति की स्थापना करता है। उनहोने कहा कि आप अपने कर्तव्य पथ पर अग्रसर हो अपने कार्यों के जरिए समाज में एक मिसाल बने। इस कार्यक्रम को आयोजित करने के लिए उन्होंने शहीद पशुपतिनाथ स्मारक समिति के पदाधिकारियों को धन्यवाद दिया साथ ही कहा कि ऐसे कार्यक्रमों का आयोजन पुलिस पदाधिकारियों के उत्साहवर्धन में महती भूमिका निभाने के साथ ही दायित्वों के निर्वहन के प्रति उन्हें और जिम्मेदार बनाता है।

 

वरीय पुलिस अधीक्षक जयंत कांत ने अपने संबोधन में बड़े ही गर्मजोशी से पुरस्कृत पुलिस पदाधिकारियों का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि विपरीत परिस्थितियों में बिना डिगे अपने कर्तव्यों के निर्वहन के प्रति समर्पण एवं आप सबों का जज्बा काबिल काबिले तारीफ है।उन्होंने कहा कि आपके कार्य ,संकल्प ,इच्छा शक्ति से न केवल व्यक्ति बल्कि पूरे समाज को सुकून मिलता है। उन्होंने उपस्थित पुलिस पदाधिकारियों का उत्साहवर्धन किया ,हौसला अफजाई की।

 

एसपी वैशाली सह अध्यक्ष श्री मनीष ने कहा कि भारत सरकार के द्वारा स्वर्गीय वीर पशुपति नाथ को गैलंट्री अवॉर्ड से भी नवाजा गया जो पुलिस समुदाय के लिए गौरव की बात है।उन्होंने कहा कि उनकी शहादत से हम सबों को एक सीख मिलती है और पुलिस को अपने दायित्व एवं कर्तव्यों के प्रति सजग रहने की प्रेरणा भी मिलती है।प्रति वर्ष इस शहीदी कार्यक्रम करके पुलिस के मनोबल को बढ़ाने में अपनी महती भूमिका अदा करने के लिए उन्होंने शहीद पशुपतिनाथ स्मारक समिति के संरक्षक और कार्यकारिणी के सदस्यों के साथ सचिव को भी धन्यवाद दिया। कार्यक्रम के आयोजन में अग्रणी भूमिका निभाने वाले श्री केके कौशिक ने भी उपस्थित पदाधिकारियों की हौसला अफजाई की।

कार्यक्रम का संचालन गोपाल फलक के द्वारा किया गया।