फाइलेरिया उन्मूलन के लिए सर्वजन दवा सेवन कार्यक्रम की होगी शुरुआत

0
53

जिला संवाददाता कौशल किशोर सिंह के साथ अमीत कुमार की रिपोर्ट

-फ़ाइलेरिया मुक्त भारत अभियान के तहत जिला स्तर पर दिया गया प्रशिक्षण
– फ़ाइलेरिया मुक्त भारत अभियान में केयर इंडिया कर रहा है सहयोग
– फाइलेरिया से बचाव को दवा का सेवन जरूरी

मोतीहारी, 12 अगस्त ।

फ़ाइलेरिया मुक्त भारत अभियान के तहत पूर्वी चंपारण में जिला स्तर पर मास्टर ट्रेनर का प्रशिक्षण कार्यक्रम जिला स्वास्थ्य समिति में आयोजित की गई।  सिविल सर्जन डॉ. अंजनी कुमार ने प्रशिक्षण में सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों के प्रखण्ड समुदाय समन्वयक, वेक्टर बोर्न डिजीज सुपरवाइजर एवं केयर इंडिया के प्रखंड समन्वयक को संबोधित करते हुए बताया कि हाथी पावं एक ऐसी बीमारी है जिसका पैरासाइट लगभग सभी आदमी में आमतौर पर पाया जाता है। जिसके सफाए के लिए सरकार के द्वारा वर्ष में एक बार सर्वजन दवा सेवन अभियान चलाया जाता है जिसके अंतर्गत डीईसी एवं एल्बेंडाजोल की खुराक दी जाती है।
फाइलेरिया से बचाव को ऐसे खानी है दवा –
इस अभियान में डीईसी एवं एलबेंडाजोल की गोलियाँ लोगों की दी जाएगी। 2 से 5 वर्ष तक के बच्चों को डीईसी की एक गोली एवं एलबेंडाजोल की एक गोली, 6 से 14 वर्ष तक के बच्चों को डीईसी की दो गोली एवं एलबेंडाजोल की एक गोली एवं 15 वर्ष से अधिक लोगों को डीईसी की तीन गोली एवं एलबेंडाजोल की एक गोली दी जाएगी। एलबेंडाजोल का सेवन चबाकर किया जाना है।

फाइलेरिया से बचाव को दवाओँ का सेवन आवश्यक है-  सिविल सर्जन डॉ. अंजनी कुमार के द्वारा बताया गया की इस बार के सर्वजन दवा सेवन कार्यक्रम में केयर इंडिया के द्वारा सभी प्रखंडों में एक अतिरिक्त समन्वयक को पदस्थापित किया जा रहा है। सर्वजन दवा सेवन  कार्यक्रम में प्राथमिकता के आधार पर सम्बंधित प्रखंड समन्वय समिति का बैठक प्रखंड विकास पदाधिकारी की अध्यक्षता में संपन्न करवाना, माइक्रो-प्लान का निर्माण, प्रखंड स्तर पर पर्यवेक्षण का कार्य एवं ससमय सभी प्रतिवेदन को भेजना सुनिश्चित करेंगे, जिला वेक्टर बोर्न डिजीज कंट्रोल पदाधिकारी डॉ. शरत चन्द्र शर्मा ने बताया की इस कोरोना काल में सभी लाभुकों को कोरोना प्रोटोकोल का पालन करते हुए दवा का सेवन करवाना हमारी प्राथमिकता    होगी। प्रशिक्षक के रूप में अभिषेक कुमार ने कार्यक्रम के विभिन्न प्रारूपों पर चर्चा करते हुए सभी प्रशिक्षुओं को उद्देश्य एवं कार्यक्रम के सफल संचालन के लिए सभी लाभार्थियों तक दवा का पहुचना एवं उसका आशा कार्यकर्ताओं के सामने में दवा का सेवन करवाना एवं ससमय प्रतिवेदन भेजना सुनिश्चित करना है। इस अवसर पर केयर इंडिया के राज्य कार्यक्रम प्रबंधक बसबरूज़, जिला कार्यक्रम प्रबंधक मुकेश कुमार , वेक्टर डिजीज कंट्रोल पदाधिकारी धर्मेन्द्र कुमार, रविन्द्र कुमार एवं  सत्यनारायण उरांव, डीसीएम नंदन झा, एफएलए  चन्द्र भानु सिंह एवं अन्य स्वास्थ्यकर्मी उपस्थित थे।