घर में रहें योग करें’ की थीम के साथ मनाया जायेगा 21 जून को योग दिवस

0
238

वैशाली जिला से कौशल किशोर सिंह की रिपोर्ट

• ayush.bihar.gov.in योग के लिए निशुल्क किया जा सकता है रजिस्ट्रेशन
• स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने टिवटर के माध्यम से योग अपनाने की अपील की
• नियमित योग कर अवसाद और तनाव रखें दूर, शारीरिक रूप से रहें स्वस्थ
• योगा डे पर कार्यक्रम आयोजन कर संयुक्त राष्ट्र संघ के अधिकारी लेंगे हिस्सा

वैशाली, 17 जून: कोविड संक्रमण की रोकथाम के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा आमजन को कोविड टीकाकरण के साथ योग व व्यायाम के लिए भी प्रेरित किया जा रहा है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना है कि योग से शारीरिक, मानसिक और अध्यात्मिक रूप से व्यक्ति स्वस्थ्य रहता है। कोविड काल में रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत रखने के लिए इसका महत्व और भी अधिक बढ़ा है। नियमित रूप से योग अपना कर अवसाद और तनाव को भी दूर किया जा सकता है। योग की प्रमुख क्रियाओं में सूर्य नमस्कार, प्राणायम, मंडूकासन, शशकासन, ताड़ासन, तिर्यक ताड़ासन, उष्ट्रासन, योगमुद्रासन, गोमुखासन, भुजंगासन, पादहस्तासन, पवनमुक्तासन, मर्कटासन, वक्रासन, कटिचक्रासन, भुजंगासन आदि मुख्य रूप से शामिल किये गये हैं जो शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के लिए लाभदायक माने गये हैं।

आयुष बिहार वेबसाइट पर कर सकते हैं रजिस्ट्रेशन:
कोविड संक्रमण काल में ‘घर में रहें, योग करें’ की थीम के साथ 21 जून को विश्व योग दिवस मनाया जायेगा। सातवें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर राज्य सरकार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने भी अपने टिवटर के माध्यम से लोगों को योग अपनाने के लिए प्रेरित किया है। वहीं राज्य सरकार के आयुष विभाग द्वारा 21 जून को सुबह सात बजे से योग संबंधी कार्यक्रम प्रारंभ किया जायेगा। राज्य आयुष समिति द्वारा योग के लिए ayush.bihar.gov.in पर लोगों से रजिस्ट्रेशन करने की अपील की गयी है।

योग से बढ़ता है रक्तसंचार व फेफड़ों को मिलती है ताकत:
योग की कई प्रक्रियाएं फेफड़ों को रक्तसंचार को बढ़ाती हैं। प्राणायम श्वसन तंत्र को मजबूत बनाने के लिए एक विशेष योगाभ्यास है। श्वसन क्रिया के दौरान गहरी सांस लेते हुए वायु को भीतर खींचते हैं। सांस को अधिक से अधिक समय तक रोके रखते हैं और अंत में धीरे धीरे सांस छोड़ते हैं। इससे शरीर को आवश्यक मात्रा में ऑक्सीजन प्राप्त होता है। टीबी सहित श्वसन संबंधी रोग को दूर करने के लिए यह एक महत्वपूर्ण अभ्यास है। इसके अलावा अनुलोम-विलोम प्राणायाम भी फेफड़ों को मजबूत रखता है। योगा के लिए शांत और साफ जगह का चयन का ध्यान रखना चाहिए। इसके अलावा कई अन्य योग प्रक्रियाएं लाभदायक है।

संयुक्त राष्ट्र संघ भी प्रसारित करेगा योग कार्यक्रम:
संयुक्त राष्ट्र संघ ने भी अपनी अधिकारिक वेबसाइट पर योग को अच्छे शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण माना है। योग दिवस के मौके पर यूएन के भी अधिकारी हिस्सा लेंगे। इसका प्रसारण यूएन वेब टीवी पर सुबह 8 बजकर 30 मिनट से 10 बजे तक लाइव प्रसारित किया जायेगा। यूएन ने कहा है कि योगा शारीरिक, मानसिक, और अध्यात्मिक रूप से व्यक्ति को स्वस्थ्य रखता है।