मंदिर निर्माण को लेकर अष्टयाम यज्ञ शुरु किया गया।

0
174

जिला संवाददाता कौशल किशोर सिंह की रिपोर्ट।

गोरौल । संवाददाता। गोरौल प्रखंड क्षेत्र के रुसुलपुर कोरिगांव पंचायत स्थित डिवारनी माई स्थान संगत टोला के प्रांगण में मंदिर निर्माण को लेकर दो दिवसीय अष्टयाम यज्ञ का आयोजन किया गया।

जिस अष्टयाम यज्ञ का प्रारंभ पंडित राकेश उपाध्यय ने अपने सहयोगियों के द्वारा वैद्विक मंत्रोंच्चार के साथ पुजा पाठ कर अष्टयाम यज्ञ शुरु किया।
बताते चले कि गोरौल प्रखंड क्षेत्र के रुसुलपुर कोरिगांव पंचायत स्थित डिवारनी माई स्थान के बारे में स्थानीय लोग भोला महतों, राम विलाश राय, चंद्रिका प्रसाद सिंह, बंगाली महतो, श्री निवास सिंह, विरेन्द्र प्रसाद सिंह, शिव चंन्द्र प्रसाद सिंह, रामविलास सिंह, जगदीश प्रसाद सिंह, राम शंकर सिंंह एवं एक जन टुट्री के अनुसार कहते है कि इस अष्टयाम यज्ञ स्थल पर बहुत विशाल पाकड़ का एक पेड़ था।

जहाँ लोग पुजा पाठ किया करते थें। वहाँ कोई भी रोगी जाकर अपनी मिन्नत मांगते थे, वो पुरी हो जाती थी। इसी को लेकर आस पास के लोग आस्थावान थें। लेकिन पिछले दो तीन साल पहले पेड़ आंधी में गिर गया था। जहां पुजा पाठ की प्रक्रिया रुक गई थी। लेकिन वहां फिर से नये पाकड़ के पौधा उगने से लोग पुनः आस्थावान हो गये और पुजा पाठ शुरू कर दिये.

उसी कड़ी में वहां चौबिस घंटों का अष्टयाम यज्ञ शुरू हुआ है। जहां श्री राम जय राम जय जय राम धुन का जाप निरंतर जारी हैं। यज्ञ को लेकर अपाड़ भीड़ देखी जा रही हैं। इस यज्ञ में समाज के लोगों की भुमिका अहम देखी जा रही है।