छात्र छात्रों के सफलता को लेकर माता, पिता के हौसले बुलंद.

0
311

 

वैशाली जिला संवाददाता कौशल किशोर सिंह की रिपोर्ट.

वैशाली जिला के गोरौल प्रखंड क्षेत्र के इसमाईलपुर पंचायत स्थित पैगम्बरपुर गोरीगामा गांव निवासी अरबिन्द कुमार राम माता रेखा देवी  के पुत्र अंकित कुमार एवं पुत्री आरती कुमारी के कद छोटा, काया दुबली-पतली और सपने बड़े- बड़े प्रतिभाएं केवल शहरों में ही नही होती अपितु गांव में भी प्रतिभाओं की कमी नही है. जरुरत है उसे परखने, उसे तवज्जोंं देने और निखारने की. सुदूर देहाती क्षेत्र में पले-बढ़े अंकित एवं आरती की प्रतिभाओं और उसके जज्बे को देखकर ऐसा लगता है कि अगर गांव के ऐसे बच्चों की प्रतिभाओं को तरासा जाये तो शायद ऐसे छात्र दूसरे ग्रामीण क्षेत्र में छात्रों के लिए आदर्श हो सकते हैं. ऐसे ही छात्रों की सफलता को देखकर गांव के बच्चों के हौसले बुलंद होते हैं. कुछ ऐसा ही उदाहरण पेश किया है.

       गोरौल प्रखंड क्षेत्र  के इसमाईलपुर  अंतर्गत पैगम्बरपुर गोरीगामा गांव निवासी पिता अरबिन्द एवम् माता रेखा देवी के पुत्र अंकित कुमार ने.
रामलखन सिंह अबध महाविद्यालय प्रेमराज से आई.एस.सी की परीक्षा 67.4% उतीर्ण किया एवं पुत्री आरती ने
राजकीय राजगृही उच्च माध्यमिक विद्यालय प्रेमराज से वर्ष 2019 में दशम् के छात्रा ने बोर्ड की परीक्षा में 62.8 अंक लाकर परिवार, गांव, समाज का नाम रौशन किया है तथा यह साबित कर दिया है कि मेहनत से कुछ भी हासिल किया जा सकता है. मन में अगर कुछ करने का जुनून हो तो पारिवारिक आर्थिक दुरावस्था या विपरीत सामाजिक पृष्ठभूमि आड़े नही आती और मेहनती व लग्नशील अपनी मंजिल पा ही लेते हैं. अपने कैरियर को लेकर संवेदनशील रहने वाले इस बालक, बालिका से यह पूछे जाने पर कि वह आगे क्या करेंगे? उसका जवाब था कि वह आगे वैज्ञानिक, इंजीनियर बनकर समाज और राष्ट्र की सेवा करना चाहता है. अपनी सफलता के गुर के संबंध में पूछे जाने पर उसने बताया कि वह लगातार चौदह घंटे पढ़ाई करता था. उसके साथ वह सभी विषयों की तैयारी को लेकर उसका नोट्स भी बनाया करता था.
     बताते चले कि अंकित व आरती के माता, गृहिणी व पिता एक कुशल किसान  खेती करके अपने परिवार की आजिविका चलाते है. बधाई देने वालों में गोरौल प्रखंड प्रमुख मुन्ना राय, उप प्रमुख संजय कुमार सिंह,  सेवानिवृत्त प्रोफेसर शुभनाथ प्रसाद धर्मेंद्र, सेवानिवृत्त शिक्षक सत्यनारायण सिंह, शिवचंद्र सिंह, साधनसेवी धर्मेंद्र कुमार, रामनिवास प्रसाद यादव, प्राध्यापक अनिल कुमार, प्रो० रणजीत कुमार दिनकर, शिक्षाविद वशिष्ठ प्रसाद सिंह, धर्मेंद्र कुमार, नेहा देवी, शारदा देवी, मंतोष राम, सरिता देवी, सत्येंद्र राम, अंजू देवी सहित अन्य शामिल है.