सीओ के निजी फरमान से जनता परेशान

0
325

रमेश प्रसाद सिंह, जिला ब्यूरो वैशाली|

बिदुपुर सीओ सरकार के आदेश को न मान कर अपना निजी फरमान चलाते है शनिवार को होने वाले भूमि विवाद मामलों के निपटारा के लिए लगाए जाने वाले जनता दरबार को थाने में न लगा कर  अपने कार्यालय कक्ष में लगाते देखे गए है।  जिससे दूर दराज से आये अभ्यर्थी बिना मामले की सुनवाई के ही वापिस लौट जा रहे है बहुतों को तो उनके गेट पर खड़ा चौकीदार अपनी बात रखने के लिए कार्यालय कक्ष में जाने नही देते है | जिसके कारण जनता के बीच रोष व्याप्त है|

सरकार ने भूमि विवाद को ऑन द स्पॉट निपटारा हेतु थाना परिसर में प्रत्येक शनिवार को जनता दरवार लगाने का फरमान जारी किया था ताकि कमजोर लोगो पर उसके प्रतिद्वंदी दवंगता न दिखाए और मामलों का निबटारा सुगमता से हो जाये| इस तरह के जनता दरवार में सीओ को थाने परिसर में बैठ कर सभी पक्षो की निष्पक्षता से सुनवाई करनी पड़ती थी| वहां पर थानाध्यक्ष या उनके द्वारा प्रतिनियुक्त अधिकारी मौजूद रहते थे| जिससे निर्भय होकर कमजोर पक्ष के लोग भी अपनी बात रख पाते थे |सीओ के नए फरमान होने से सरकार के मंसूबो पर पानी फिर गयी| भूमि विवाद मामलों के निबटारा शिथिल पड़ गए और अंचल कार्यालय में अनावश्यक भीड़ से बढ़ाकर खा मखाह जनता को परेशान करने का रचा गया है| जिससे अंचल कार्यालय और प्रखंड कार्यालय में कार्य निष्पादन में ब्यवधान पैदा हो गया यही नही दबंगो की चल पड़ी और कमजोर पीछे दबते चले  गए |शनिवार को  माईल से आये शीलम देवी पति बिनोद पंडित कहती है कि कई घण्टो सीओ साहब के गेट पर खड़े रहने पर बड़ी मुश्किल से उनके चौकीदार अंदर जाने दिया गया| मगर सुनवाई नही हो पाया |बिदुपुर काली स्थान की सोनी देवी पति ज्ञानचंद पासवान कहती है कि विरोधी काफी दबंग है| हम सीओ कार्यालय में अंदर अपनी बात को ठीक ढंग से नही रख पायी जिसके कारण अगले दिन सुनवाई के लिए टाल दी गयी |थाने पर होते तो अपनी बात सही ढंग से रख पाते |गोबिंदपुर गोखुला के शंकर सिंह कहते है कि हम सीनियर सिटीजन है अंचल कार्यालय के संकड़े अहाते मे�