0
308

 

गोरौल प्रखंड से कौशल किशोर सिंह की रिपोर्ट.

वैशाली जिला के गोरौल प्रखंड के गंडक प्रोजेक्ट स्थित प्रांगण में लोजपा के कार्यकर्ताओं ने एक कार्यक्रम आयोजित कर बैठक किया। जिसकी अध्यक्षता मुखलाल पासवान ने किया। जिस बैठक का उद्देश्यथा कि बिहार विधानसभा चुनाव के हार की जानकारी के लिए लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान से मिले निर्देश के आलोक मे गोरौल प्रखंड लोजपा की बैठक में वैशाली विधानसभा से पराजित प्रत्याशी अजय कुशवाहा ने जमकर भड़ास निकालते हुए जीत का दावा किया है। उन्होंने यह दावा किया है कि गोरौल प्रखंड क्षेत्र से माात्र14000 वोट लाकर यहां से वह विजेता हैं। उन्होंने कार्यकर्ताओं को निर्देश दिया कि लोजपा संगठन को मजबूत एवं प्रभावी बनाने के लिए सभी जातियों के लोगों को जोड़ने की जरूरत है। पराजित प्रत्याशी एवं कार्यकर्ताओं ने वैशाली सीट से हार के लिए वैशाली की सांसद वीणा देवी, व गोरौल प्रखंड के लोजपा अध्यक्ष राम इकबाल सिंह को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने कहा कि चुनाव के दौरान सांसद ने  अपना कोई सहयोग नहीं किया। जबकि गोरौल प्रखंड के लोजपा अध्यक्ष चुनाव के दौरान खोजने से भी नहीं मिलते थे। मंथन में हार के कारणों की वेबश परिस्थितियां सामने लाई गई। लेकिन उन्होंने कहा कि गर्व है कि बगैर किसी गठबंधन के अकेले चिराग पासवान ने 243 सीट में मात्र 135 सीट पर प्रत्याशी देकर 25  लाख वोट लिया जो बिहार फर्स्ट एवं बिहारी फर्स्ट का स्लोगन को स्वीकार करना है। अंत में उन्होंने निर्णय लिया कि लोकसभा के चुनाव में इसी आई कौन को सामने रखकर लोजपा चुनाव लड़ेगी। कार्यक्रम की संचालन  लोजपा के वरिष्ठ नेता  बैजू सहनी ने किया, जबकि सम्बोधन लोजपा प्रदेश महासचिव साजेश पासवान ने किया। इस मौके पर लोजपा के पूर्व प्रत्याशी अंजनी सिंह पशुपति सिंह मंटु पासवान नकुल कुमार अजय पासवान आदि सहित कार्यकर्ता उपस्थित थे।