केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ दस केंद्रीय ट्रेड यूनियन द्वारा आम हड़ताल सफल रहा : AIUTUC

0
1474

मजदूर विरोधी किसान विरोधी एवं जन विरोधी केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ देशव्यापी आम हड़ताल के समर्थन में एआईयूटीयूसी, एटक, इंटक, टीयूसीसी एवं अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ (सेवांजलि) का संयुक्त जुलूस खुदीराम बोस स्मारक स्थल कंपनी बाग से निकाला गया। जो रेड क्रॉस, प्रधान डाकघर, बीएसएनल, सरैयागंज टावर, पंकज मार्केट, जवाहरलाल रोड, कल्याणी चौक होते हुए एलआईसी मंडल कार्यालय पहुंचा। जहां सभा की गई।
जुलूस का नेतृत्व एस यू सी आई (कम्युनिस्ट) के जिला सचिव अर्जुन कुमार, एआईकेकेएमएस के जिला सचिव लालबाबू महतो, एटक के भरत झा, इंटक के मधुसूदन झा, टीयूसीसी के हबीब अंसारी आदि कर रहे थे।
जुलूस में शामिल लोग रेल, बैंक, बीमा सहित सभी सार्वजनिक संस्थाओं को पूंजीपतियों के हवाले करना बंद करो, शिक्षा स्वास्थ्य के निजीकरण-व्यापारीकरण पर रोक लगाओ, मजदूर विरोधी लेबर कानून रद्द करो, किसान विरोधी तीन काले कानून रद्द करो, स्कीम वर्करों को सरकारी कर्मचारी का दर्जा दो, महंगाई पर रोक लगाओ, सभी बेरोजगारों को काम दो एवं बिजली का संपूर्ण निजीकरण करने वाले बिजली संशोधन विधेयक 2020 रद्द करो आदि रोषपूर्ण नारे लगा रहे थे।
एलआईसी मंडल कार्यालय परिसर में संबोधित करते हुए ट्रेड यूनियन नेताओं ने कहा कि केंद्र सरकार जनता की गाढ़ी कमाई से खड़ा किए गए रेल, बैंक, बीमा सहित तमाम सरकारी उपक्रमों को पूंजीपतियों के हाथों ओने-पौने दाम में बेच रही हैं। 44 श्रम कानूनों को खत्म कर केवल 4कोड में बदला जा रहा है। जिसमें न्यूनतम मजदूरी, काम के घन्टे, यूनियन बनाने सहित तमाम श्रम अधिकारों को खत्म किया जा रहा है। वही आवश्यक वस्तु अधिनियम 2020 के माध्यम से कालाबाजारी और जमाखोरी की खुली छूट दे दी गई है। जिससे महंगाई तेजी से बढ़ेगी। वही कृषि से संबंधित तीन काले कानून के लागू होने से खेती भी पूंजीपतियों के गिरफ्त में चला जाएगा। उन्होंने इन जन विरोधी नीतियों के खिलाफ आम जनता से जन आंदोलन तेज करने का आह्वान किया।
संबोधित करने वालों में एटक के मोहम्मद यूनुस, राम नरेश ठाकुर, महेश चौधरी, उदय ठाकुर, अजय कुमार सिंह, शत्रुघ्न पांडे, प्रदीप कुमार पांडे, शंभूशरण ठाकुर, बैंक यूनियन के चंदन कुमार, जीवन बीमा निगम के संजय कुमार, अजीत कुमार झा, बिहार राज्य कंस्ट्रक्शन वर्कर्स यूनियन के वैद्यनाथ पंडित, एआईडीएसओ बिहार राज्य सचिव विजय कुमार, जिलाध्यक्ष शिव कुमार एवं मोबाइल टावर कामगार यूनियन के कुमोद सहनी आदि प्रमुख रूप से शामिल थे।
वही बेला इंडस्ट्रियल लेबर यूनियन के नेता कमलेश दास, सुरेंद्र दास, भोला रजक, सुरेंद्र सहनी के नेतृत्व में बेला औद्योगिक प्रांगण के फेज 1 और 2 में विभिन्न कारखानों में जुलूस की शक्ल में घूम कर कारखाना बंद कराया गया।