चिराग पासवान को बीजेपी की नसीहत बोले सीएम नीतीश कुमार के बारे में बोलने से पहले अपनी हैसियत को देखें

0
113

    नीतीश-चिराग की लड़ाई में कूदी बीजेपी, जेपी नड्डा की नसीहत- अपनी हैसियत का भी रखें ख्याल
बिहार में एनडीए के सहयोगी दलों लोजपा और जदयू में जारी तनातनी के बीच अब भाजपा ने लोजपा को नसीहत दी है कि ‘अपनी ताकत का आकलन करने में यथार्थवादी रहना’ भी जरुरी है। बता दें कि लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान बीते कुछ समय से बिहार के सीएम और सहयोगी पार्टी जदयू के अध्यक्ष के खिलाफ काफी मुखर रहे हैं और कई मुद्दों पर उनकी आलोचना कर चुके हैं। सूत्रों के अनुसार, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने चिराग पासवान को नसीहत देते हुए कहा है कि नीतीश पर हमले से पहले उन्हें अपनी पार्टी की ताकत के आकलन में यथार्थवादी रहना भी जरुरी है।

ऐसा लग रहा है कि जेपी नड्डा की इस सलाह का चिराग पासवान पर असर भी हुआ है। यही वजह है कि अब उनके जदयू के प्रति रुख में थोड़ी नरमी देखी गई है। लोजपा और जदयू के बीच मुख्यतः सीट बंटवारे को लेकर मतभेद हैं। चिराग का आरोप है कि नीतीश मनमाने ढंग से काम कर रहे हैं। इसे लेकर चिराग ने बीते हफ्ते जेपी नड्डा से इस बारे में शिकायत की थी। हालांकि इस दौरान जेपी नड्डा ने चिराग पासवान को ही नसीहत दे डाली है।
सूत्रों के अनुसार, बिहार में चुनाव के वक्त भाजपा भी नीतीश को नाराज नहीं करना चाहती है। भाजपा के एक नेता का कहना है कि राम विलास पासवान इस बात को समझते हैं लेकिन चिराग पासवान अपनी पार्टी को विस्तार देने की जल्दी में हैं।
द प्रिंट की एक रिपोर्ट के अनुसार, बीजेपी नेताओं का कहना है कि ‘राजनीति में महत्वकांक्षाएं स्वभाविक हैं लेकिन 35 साल से ज्यादा अनुभव वाले नेता के खिलाफ खड़ा होना ठीक नहीं है। चिराग, तेजस्वी या अपने हमउम्र अन्य नेताओं के सामने खड़े हो सकते हैं लेकिन नीतीश के सामने नहीं। उन्हें ये बात समझनी चाहिए।’