साले की शादी समारोह में बहनोई की मौत का राज खुलने लगा

0
102

वैशाली ( जिला ब्युरो)।

मो तलाउद्दीन की संदिग्धावस्था में हुई मौत का राज खुलने लगा है।

ससुराल के  शादी समारोह में मिल होने के लिए मोहम्मदपुर टुरी गांव निवासी मो सत्तार के लगभग 30 वर्षीय पुत्र मो तलाउद्दीन   गया था।  जहां उसकी मौत  होने के उपरांत शव छिपाने की नियत से पोखर में डाल दिया गया था। शव गांव में पहुंचते मची कोहराम।छायी गांव में मातमी सन्नाटा। मृतक माता पिता का रो रो कर बुरा हाल है।
मृतक की पत्नी  सकिना के मुताबिक मृतक को सास,सरहोज, चचेरे साला से झगड़ा  हुआ था। शादी समारोह से पूर्व मेल-मिलाप हो गया था। ओर    मेरे मैक  समस्तीपुर जिले अन्तर्गत पुसा थाना के बिरौली घड़ियां चौक में भाई की शादी समारोह में पति मो तलाउद्दीन गया था।    उक्त शादी में मैं भी शामिल थी।  शादी के एक दिन पूर्व रात्री में मिलाद के बाद  युवकों द्वारा डांस का आयोजन किया गया। उक्त डांस में मेरे पति भी शामिल थे। अचानक मेरे पति को  डांस से नथुनी मियां,मो ताहिर, नौशाद  समेत अन्य लोग ने खींचकर अन्यत्र ले गया। सुबह में मुझे लोगों ने बताया कि तुम्हारे की मौत हो गई। इसकी सूचना सकिना ने अपने सास ससुर को देना उचित नहीं समझी। मृतक के भाई ने बताया कि  मेरे बहनोई ने आपके भाई की मौत ससुराल में  हो गया है। सूचना मिलते ही मृतक के माता-पिता व भाई ने अपने बस्ती सरसिकन पंचायत के पूर्व मुखिया उपेन्द्र कुमार पासवान, पूर्व जिला पार्षद आभा राय,उप प्रमुख इन्द्रजीत प्रधान समेत अन्य गणमान्य लोग  ने  मृतक के   ससुराल में पहुंचकर जानकारी लेने की कोशिश तो ससुराल वालों ने बताया कि मृतक रात्री में पोखर में स्नान करने के दौरान डुबने से मौत हो गई। इससे संतोष नहीं हुआ। इसके बाद गांव के लोगों ने बताया कि  डुबने से मौत नहीं हुई है बल्कि उसकी हत्या कर शव को गायब करने की नियत से पोखर मे रख दिया गया।
ज्ञात हो कि कटहरा ओ पी क्षेत्र के मोहम्मदपुर टुरी गांव निवासी मो सत्तार ने अपने पुत्र मो तलाउद्दीन की शादी मुस्लिम रीति रिवाज के तहत  बारह साल पूर्व में  समस्तीपुर जिले अन्तर्गत पुसा थाना के बिरौली गांव निवासी मो मंजूर मियां की पुत्री सकिना के साथ हुआ था।  मृतक के शरीर के अनेक भागों में गंभीर दाग पाया गया है।  मृतक के परिजनों ने बताया कि पुसा पुलिस ने कहा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही मौत का खुलासा होगा।