बकरी पालन की तीन दिवसीय प्रशिक्षण

0
56

वैशाली( जिला ब्युरो)।

 

वैशाली जिले अन्तर्गत कृषि विज्ञान केंद्र हरिहरपुर, प्रागंण में गरीब कल्याण रोज़गार अभियान के अंतर्गत बकरी पालन विषय पर द्वितीय बैच का तीन दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारंभ संस्था के वरीय वैज्ञानिक सह प्रधान डॉ नरेंद्र कुमार के द्वारा किया गया । उक्त कार्यक्रम में बकरी पालन करने के फायदे, पशुपालन में बकरी पालन का महत्व, बकरी पालन के शेड निर्माण एवं बकरी पालन से सम्बंधित अन्य बातों पर डॉ नरेंद्र कुमार ने प्रकाश डाला ।डॉ नरेंद्र कुमार ने बताया बकरी गरीबों की गाय है । बिहार में बकरी पालन से अच्छी आमदनी इस रोजगार से प्राप्त किया जा सकता है । कोरोना के कारण उत्पन्न बेरोजगारी के कारण बाहर में रहने वाले अधिकांश लोग अपने घर आ गए है सभी के पास बेरोजगारी की समस्या है ऐसी स्थिति ने केंद्र सरकार के इस योजना के माध्यम से सभी प्रवासी मजदूरों को रोजगार उपलब्ध करवाने के लिए अच्छी पहल साबित हो सकती है । आज इस प्रशिक्षण कार्यक्रम का पहला दिन था । डॉ कुमार ने इस संबंध में बताया कि बहुत से प्रवासी मजदूर प्रशिक्षण में भाग लेकर अपना व्यवसाय करने के लिए इच्छुक है । डॉ कुमार ने बताया कि बकरी का दूध का औषधीय महत्व है ।

बकरी का दूध डेंगू बुखार के उपचार में काम आता है । बकरी के दूध से अच्छी कमाई बकरी पालक कर सकते है ।बिहार में बकरी दूध पालन में व्यापक क्षेत्र है । यह वैसे स्थान पर पालन किया जाता है जहां पर पानी जमाव नहीं हो ।