कोरोना जांच में आयेगी तेजी, एसकेएमसीएच को 2625 तथा जिले को 18750 वीटीएम किट आवंटित

0
270

जिला संवाददाता कौशल किशोर सिंह की रिपोर्ट

– वीटीएम का पूरा नाम है वायरल ट्रांसपोर्ट मीडियम किट
– किट वितरण सुनिश्चित कराने को कार्यपालक निदेशक ने दिए हैं निर्देश
– एक किट से होती है एक संक्रमित की जांच

मुजफ्फरपुर। 28 जुलाई

कोविड-19 की बढ़ती रफ्तार को कम करने के लिए स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह से सजग हैं। इसको लेकर कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण को रोकने की हर संभव कोशिश की जा रही है। इसके लिए सरकार से लेकर स्वास्थ विभाग पूरी जिम्मेदारी के साथ दिन-रात एक कर अपने कार्य में जुटी है। जिसके लिए हर रोज नई-नई रूप रेखा तैयार की जा रही है। इसी कड़ी में इस बार सरकार एवं विभाग द्वारा कोरोना जाँच में तेजी लाने के उद्देश्य से लोकल लेवल पर कोरोना टेस्ट की योजना तैयार की गई है एवं मरीजों का सैंपल जाँच में किसी प्रकार की बाधाएं नहीं हो, इसके लिए सरकार द्वारा वीटीएम राज्य स्वास्थ समिति को उपलब्ध कराया गया है। राज्य के सभी अस्पतालों (जहाँ पूर्व से पर्याप्त संख्या में उपलब्ध है को छोड़कर) एवं मेडिकल कॉलेज के बीच इसे वितरित किया जाएगा, जिसमें जिले में संचालित विभिन्न अस्पतालों में जाँच की सुविधाएं चालू कराने के लिए 18750 वीटीएम किट आवंटित हुआ है तथा एसकेएमसीएच में 2625 वीटीएम कीट आवंटित हुआ है। इसे सुनिश्चित कराने को लेकर राज्य स्वास्थ समिति के कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार ने बीएमएसआईसीएल के प्रबंध निदेशक समेत सभी सिविल सर्जन व अस्पताल अधीक्षक को पत्र भेजा है,जिसमें शीघ्र सभी जगहों पर नियमानुसार एवं सरकार के गाइलाइन के अनुसार वितरित करने को कहा गया है ताकि सैंपल संग्रह में किसी तरह की परेशानियाँ उत्पन्न नहीं हो।

जिला अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी डॉ विनय कुमार शर्मा ने बताया संक्रमित की जांच में तेजी लाने के लिए हर रोज इस गतिविधि से कोविड संक्रमितों की जांच की जा सकेगी। यह जाँच योग्य चिकित्सकों के नेतृत्व में लैब टेक्नीशियन के द्वारा किया जाएगा। साथ ही जाँच में आये मरीजों को जागरूक भी करेंगे। उन्होंने बताया इस सुविधा से मरीजों को राहत मिलेगी वहीं जांच में भी तेजी आएगी। अब मरीजों को जाँच के लिए अस्पतालों का चक्कर नहीं लगाना पड़ेगा। प्राथमिकता के आधार पर किट से जाँच की जाएगी। वीटीएम किट खपत का प्रतिदिन राज्य स्वास्थ समिति को रिपोर्ट देने का भी निर्देश है।

कोरोना टेस्ट के लिए सैंपल संग्रह की बढ़ेगी रफ्तार:

पत्र में यह भी कहा गया है राज्य के सभी अस्पतालों में एक दिन में जो भी वीटीएम की खपत है।उसका सामुहिक रूप से प्रतिदिन राज्य स्वास्थ समिति को रिपोर्ट उपलब्ध कराना है, ताकि पुनः ससमय वीटीएम उपलब्ध कराई जा सके। वीटीएम के अभाव में अब कोरोना टेस्ट को लेकर सैंपल संग्रह के कार्य में बाँधाऐ उत्पन्न नहीं होगी। इसको लेकर सरकार ने सभी अस्पतालों एवं मेडिकल कॉलेजों को पर्याप्त मात्रा वीटीएम किट उपलब्ध कराया है।दरअसल आए दिन वीटीएम के अभाव सैंपल संग्रह का कार्य बाधित हो जाता था। इस कारण मरीजों को भारी परेशानियाँ का सामना करना पड़ता था। एवं कई मरीज अस्पतालों का चक्कर लगाते-लगाते थककर जाँच कराना ही छोड़ देते थे।किन्तु अब मरीजों को उक्त समस्या नहीं जूझना पड़ेगा।सरकार ने भी उक्त समस्याऐ को देखते हुए यह प्लान तैयार की है।इससे सैंपल संग्रह की रफ्तार तेज होगी एवं लोगों को अस्पतालों की दौर नहीं लगानी पड़ेगी ना ही किसी प्रकार की परेशानी होगी।