विभिन्न योजनाओं और कोविड को लेकर आयुक्त ने दिए कई निर्देश

0
232

जिला संवाददाता कौशल किशोर सिंह की रिपोर्ट.

– आइसोलेशन सेन्टर की संख्या में इज़ाफ़ा करने को कहा
– बाढ़ कार्य योजना पर निर्देशिका हुई जारी
– बाढ़ पर अलर्ट मोड़ में काम करने को कहा
मुजफ्फरपुर। 15 जुलाई
पंकज कुमार ने प्रमंडल के सभी जिलों के जिला पदाधिकारियों के साथ बुधवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आज कोविड-19, विधि व्यवस्था एवं बाढ़ से सबंधित तैयारी को लेकर समीक्षात्मक बैठक की एवं इस संबंध में आवश्यक निर्देश आयुक्त महोदय के द्वारा दिया गया।
कोविड 19 महामारी की रोकथाम और इस पर प्रभावी नियंत्रण को लेकर सभी 6 जिलों के जिलाधिकारियों द्वारा किए जा रहे कार्यों की उन्होंने भूरी- भूरी प्रशंसा की साथ ही उन्होंने उम्मीद भी की कि इसी जज्बे के साथ कार्य करते हुए आगे आने वाले वाली चुनौतियों का सामना करने में आप सफल होंगे।
आइसोलेशन सेन्टर की संख्या में वृद्धि का दिया निर्देश

कोविड-19 से संबंधित किए जा रहे कार्यों की समीक्षा करते हुए आयुक्त महोदय ने निर्देश दिया कि संक्रमितों की संख्या में वृद्धि को देखते हुए आइसोलेशन सेंटर की संख्या बढ़ाई जाए। पर्याप्त संख्या में बेड की उपलब्धता सुनिश्चित हो। सभी जिला टेस्टिंग का लक्ष्य को पूरा करें। उन्होंने कहा कि आइसोलेशन के लिए पहले से ही अतिरिक्त जगह /भवन को चिन्हित कर लिया जाए ताकि जरूरत पड़ने पर उसे कोविड केयर सेंटर बनाया जा सके। उन्होंने निर्देश दिया कि कांटेक्ट ट्रेसिंग सेल को और अधिक एक्टिव करने की आवश्यकता है। निर्देश दिया कि वैसे पॉजिटिव मरीज जो आइसोलेशन में हैं उनका नियमित ऑब्जरवेशन करें। साथ ही होम आइसोलेशन की फैसिलिटी को भी मॉनिटरिंग करते रहें तथा जो व्यक्ति होम आइसोलेशन में रहना चाहते हैं उन्हें डॉक्टर की सलाह पर घर में सावधानी रखने की शर्तो पर रखने की अनुमति दी जानी चाहिए। आयुक्त ने कहा कि अभी फ्लू का भी मौसम है। अतः प्रत्येक जिला फ्लू रोगियों के लिए डॉक्टरी परामर्श तथा सस्पेक्टेड मरीजों की जांच कराने का निर्देश दिया ।डिस्चार्ज के संबंध में प्रमंडलीय आयुक्त ने जिलावार लक्ष्य की समीक्षा की। उन्होंने लक्ष्य के अनुरूप उपलब्धि हासिल करने का निर्देश दिया। प्रमंडलीय आयुक्त ने सभी डीएम को एक ही जगह अधिक पॉजिटिव मामले पाए जाने पर कंटेंटमेंट ज़ोन बनाने तथा आवश्यकतानुसार बफर जोन बनाने का भी निर्देश दिया ।कंटेंटमेंट ज़ोन में आवाजाही पर पूर्ण रूप से रोक लगाई जाए तथा सैनिटाइजेशन भी नियमित रूप से हो ।उन्होंने कंटेनमेंट जोन में आवश्यक सेवा बहाल करने का भी निर्देश दिया। उन्होंने सरकार द्वारा 16 जुलाई से लगाए गए लॉकडाउन का सख्ती से अनुपालन कराने का निर्देश सभी जिलाधिकारियों को दिया।कहा कि लॉकडाउन के प्रावधान में निहित बिंदुओं के बारे में जानकारी देने हेतु माइकिंग कराना सुनिश्चित की जाए ताकि लोगों को इसके बारे में कोई कंफ्यूजन न हो।सैंपल लेने ,जांच करने तथा रिपोर्ट प्राप्त करने से संबंधित कार्य आपसी समन्वय बनाकर करने का निर्देश आयुक्त महोदय के द्वारा दिया गया।
नागरिकों से की मास्क पहनने की अपील
प्रमंडलीय पंकज कुमार और आईजी तिरहुत रेंज- गणेश कुमार ने संयुक्त रूप से प्रमंडल के सभी जिलों के जिलावासियों से अपील की है कि सभी लोग मास्क का नियमित प्रयोग करें ।सोशल डिस्टेंसिंग को मेंटेन करें तथा सरकार द्वारा दिए जा रहे दिशा- निर्देशों का अक्षरशः पालन करें ।उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा लगाए गए लॉकडाउन में आम जनता का सहयोग निश्चित रूप से लॉकडाउन को सफल बनाएगा।

माहौल बिगाड़ने वालों पर ठोस कार्रवाई हो

विधि व्यवस्था की समीक्षा के क्रम में प्रमंडलीय आयुक्त पंकज कुमार ने उपस्थित सभी जिलाधिकारी और एसपी को स्पष्ट निर्देश दिया कि निष्पक्ष हो कानूनी प्रावधानों एवं प्रक्रियाओं का पालन करते हुए विधि व्यवस्था के संधारण में अपने दायित्वों के निर्वहन में पूर्ण ईमानदारी बरते तथा माहौल बिगाड़ने और दूषित करने वाले तत्वों पर ठोस एवं प्रभावी कार्रवाई करें । जिलों में विधि व्यवस्था संधारण के मद्देनजर सभी आवश्यक कदम उठाई जाय।कार्य योजना बनाकर कार्य करें। संगठित अपराध और नक्सल गतिविधियों पर कड़ाई से अंकुश लगाएं ।उन्होंने कहा कि समाज में अमन और चैन बहाल करने में पुलिस और प्रशासन की महती भूमिका है। वही आईजी गणेश कुमार ने भी उपस्थित सभी आरक्षी अधीक्षक को को निर्देश दिया कि निचले स्तर पर अधिकारियों को सक्रिय और संवेदनशील बनाने के दिशा में आवश्यक कार्य करें। कहा कि विधि- व्यवस्था संधारण हेतु विधिसम्मत सभी आवश्यक कदम उठाएं।शराब का विनिष्टिकरण,गाड़ियों का कन्फिशकेशन और उसके नीलामी की प्रक्रिया में तेजी लाएं। आईजी गणेश कुमार ने सभी एसपी को निर्देश दिया कि वाहनों का नियमित चेकिंग हो विशेषकर दुपहिया वाहन/ मोटरसाइकिल की चेकिंग गंभीरता से करें। साथ ही उन्होंने यह बात भी कही कि सभी पुलिस पदाधिकारी तथा अन्य पदाधिकारी कार्य करने के क्रम में मास्क का प्रयोग जरूर करें।साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग को भी हर हाल में मेंटेन करें।
सभी जिलाधिकारियों को बाढ़ पर अलर्ट मोड़ में रहने को कहा
आयुक्त पंकज कुमार द्वारा सभी जिलों के जिलाधिकारियों के साथ संभावित बाढ़ को लेकर भी बिंदुवार समीक्षा की गई एवं आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए।आयुक्त महोदय ने कहा कि अभी बाढ़ का समय है ।अतः सभी जिलाधिकारी अलर्ट मोड में रहें। विभिन्न विभागों के आपसी समन्वय के साथ कार्य करें। साथ ही बाढ़ से संबंधित की जा रही तैयारियों का सतत अनुश्रवण करना भी सुनिश्चित करें। आयुक्त महोदय द्वारा तटबंध की सुरक्षा,संकटग्रस्त व्यक्ति समूह की पहचान, वर्षा मापक यंत्र का संचालन, सरकारी एवं निजी नावों की उपलब्धता, सूचना व्यवस्था, मानव दवा की व्यवस्था, पशु चारा एवं पशु दवा की व्यवस्था , शुद्ध पेयजल की व्यवस्था, स्वयं सेवकों एवं गोताखोरों का प्रशिक्षण, राहत एवं बचाव दल का गठन, आकस्मिक फसल योजना का सूत्रण,पॉलिथीन सीट की व्यवस्था इत्यादि बिंदुओं पर बारी-बारी से सभी जिलाधिकारियों के साथ समीक्षा की एवं इस संबंध में आवश्यक निर्देश उनके द्वारा दिया गया।
प्रमंडलीय आयुक्त पंकज कुमार ,आईजी गणेश कुमार, जिलाधिकारी मुजफ्फरपुर डॉ चंद्रशेखर सिंह ,वरीय पुलिस अधीक्षक अधीक्षक जयंतकांत के द्वारा आज बाढ़ कार्य योजना, मुजफ्फरपुर 2020- 21 निर्देशिका का लोकार्पण किया गया।