वैशाली जिले में मिले 73  कोरोना पॉजिटिव केश कल से 6 दिनों के लिए लॉकडाउन.

0
336
वैशाली जिला संवाददाता कौशल किशोर सिंह की रिपोर्टः
11  से 16  जुलाई तक वैशाली जिले में लाकडाउन लागु.

वैशाली जिले में कोरोना संक्रमण के लगातार बढ़ रहे मामले को देखते हुए. जिला प्रशासन ने 11 जुलाई से 16 जुलाई तक जिले में लॉकडाउन लागू करने की घोषणा की है. यह जानकारी गुरुवार को डीएम उदिता सिंह व प्रभारी एसपी पुष्कर आनंद ने मीडिया को दी है. गुरुवार को 73 नये कोरोना पॉजिटिव केस मिलने के साथ ही जिले में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या 323 हो गई है. लॉक डाउन की अवधि में सुबह 6:00 से शाम 6:00 बजे तक सिर्फ आवश्यक सेवा से जुड़े कार्यालय व दुकानें खुली रहेगी. लॉकडाउन के पब्लिक ट्रांसपोर्ट व निजी वाहनों के इस्तेमाल पर रोक नहीं रहेगी. लेकिन उन्हें वाहन की क्षमता से 50 फीसदी कम यात्रियों को बैठने की ही अनुमति मिलेगी. लॉकडाउन के दौरान धार्मिक स्थलों, धार्मिक आयोजनों पर भी प्रतिबंध रहेगा. डीएम ने बताया कि संक्रमण के लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए इसकी रोकथाम के लिए लॉकडाउन लगाया गया है. इस दौरान शादी, विवाह में 50, अंतिम संस्कार में 20 लोगों के शामिल होने की अनुमति दी जाएगी. लॉकडाउन के दौरान यह कॉमर्स की सेवाएं पूरी तरह चालू रहेगी. वहीं कंटेनमेंट जोन में पूर्व की तरह शख्ती लागू रहेगी.

नियम का उल्लंघन करने पर जप्त होगेंं वाहन.

डीएम ने बताया कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए मास्क का इस्तेमाल व सोशल डिस्टेंसिंग का पालन अनिवार्य कर दिया गया है. लॉकडाउन में पब्लिक ट्रांसपोर्ट व निजी वाहनों की आवाजाही पर कोई रोक नहीं है. लेकिन उन्हें क्षमता से आधी सवारी ही बैठाने पड़ेगी. दुपहिया वाहन पर सिर्फ एक व्यक्ति को बैठने की अनुमति होगी. पब्लिक ट्रांसपोर्ट में वह सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का उल्लंघन पकड़ा गया तो वाहन को जप्त कर लिया जाएगा.
 बिना मास्क के पकड़े जाने पर सील होगी दुकान
 जिले में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए मास्क के उपयोग को अनिवार्य कर दिया गया है. इसके लिए जिला मुख्यालय से लेकर प्रखंड मुख्यालय तक अभियान चलाया जा रहा है. दुकानदारों के लिए भी मास्क का उपयोग करना अनिवार्य है. अगर जांच के दौरान दुकानदारों या दुकान के ग्राहक विना मास्क के पकड़े जाते हैं तो दुकान को सील कर दिया जाएगा. बगल वाली दुकान को भी सील किया जाएगा. लॉकडाउन में खुले रहेंगे खाद्य सामग्री, किराना, सब्जी, में मछली, दूध, दवा, मेडिकल ई-कॉमर्स की सेवाएं, पेट्रोल पंप, एलपीजी के रिटेल सेंटर गोदाम, बिजली दुकान, बैंक, बीमा कंपनियों के कार्यालय, टेलीकम्युनिकेशन इंटरनेट सर्विसेज ब्रॉडकास्टिंग, आईटी सेवा से जुड़ी सेवाएं, मैन्युफैक्चरिंग, व डिस्ट्रीब्यूशन यूनिट, डिस्पेंसरी, लैबोरेट्री, क्लीनिक, नर्सिंग होम, एंबुलेंस सेवा, हॉस्पिटल, केंद्र सरकार की डिटेल्स सेंट्रल आर्म्ड फोर्स, पोस्ट ऑफिस, नेशनल इनफॉर्मेटिक्स सेंटर, बिहार सरकार के पुलिस, होमगार्ड, सिविल डिफेंस, फायर, इमरजेंसी सर्विसेज, आपदा प्रबंधन, जेल, जिला प्रशासन, ट्रेजरी, बिजली, पानी, सैनिटाइजेशन से जुड़े कार्यालय.
 सभी थानाध्यक्षों को सौंपी गई जिम्मेदारी
एसपी ने सभी थानाध्यक्षों को ज्यादा भीड़ वाले स्थल विवाह या अन्य कार्यक्रमों के आयोजन स्थल की चेकिंग का निर्देश दिया गया है. साथ ही विवाह भवन के आयोजकों से लिखित में यह ले कि कोविड-19 संक्रमण के आदेशों का अनुपालन करेंगे तथा उल्लंघन करने पर सुसंगत धाराओं के तहत कार्रवाई के भावी होगें.