चौपाल रख रहा बच्चों की सेहत का ख्याल 

0
262

जिला संवाददाता की रिपोर्टः

– बैरिया आंगनबाड़ी केंद्र 107 पर आयोजित चौपाल में बड़ी संख्या में जुटे लोग

– 29 बच्चों की हुई स्वास्थ्य जांच, चमकी बुखार से बचाव के उपाय बताए गए

-नियमित रूप से चौपाल का आयोजन एईएस पर बढ़ा रहा लोगों की समझ

मोतिहारी। 26 जून
चमकी बुखार को मात देने में चौपाल बड़ी भूमिका निभा रहे हैं। यही वजह है कि गांव-मौहल्लों में इसका आयोजन लगातार किया जा रहा है। लोग अपना काम-धाम छोड़ कर इसमें भाग लेते हैं। पूछने पर उनका जवाब होता है कि काम से ज्यादा बच्चों की सेहत का ध्यान रखना जरूरी है। एईएस का खतरा अभी टला नहीं है, इसलिए हमारी जागरुकता ही हमारे बच्चों की देखभाल में काम आ सकती है। चौपाल में डॉक्टर साहब भी रहते हैं, जो नियमित रूप से बच्चों की स्वास्थ्य जांच करते हैं, साथ ही हमें यह जानकारी देते हैं कि कैसे अपने बच्चे को हम इस बीमारी की जद में आने से बचा सकते हैं। बैरिया के आंगनबाड़ी केंद्र पर शुक्रवार को चौपाल में भाग ले रहे ग्रामीणों की बात सुनकर लगा कि सरकार की मुहिम रंग ला रही है। एईएस के प्रति जागरुकता को लेकर गांव-कस्बा सकारात्मक ऊर्जा के साथ बड़े बदलाव की ओर आगे बढ़ रहा है।

जागरुकता से ही हार मानेगा चमकी बुखार :

एक्यूट इंसेफलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) का स्पष्ट कारण अब तक नहीं पता चल पाया है। इसलिए अभी जागरूकता ही चमकी बुखार से बेहतर बचाव माना जा रहा है। इस संबंध में जिला प्रशासन ने नई पहल की है। प्रभावित रहने वाले गांवों में चौपाल लगाकर चमकी पर चर्चा की जा रही है। पिछड़े टोलों में प्रतिदिन शाम में केयर के अधिकारी, आशा, सेविका, सहायिका व पर्यवेक्षिका चमकी पर चर्चा का आयोजन कर रही हैं। जिले में डीएम व सिविल सर्जन की टीम ने सर्वाधिक प्रभावित गांवों को गोद ले रखा है, जहां अधिकारी समय-समय पर जागरुकता अभियान चला रहे हैं।

29 बच्चों की स्क्रीनिंग की गई :

चौपाल में 29 बच्चों के स्वास्थ्य की जांच की गई।चकिया के चिकित्सा पदाधिकारी डॉ सन्नी बिक्रम ने अविभावकों को बताया कि वे कैसे अपने बच्चों के पोषण का ख्याल रखें। प्रखंड के एईएस नोडल पदाधिकारी रामनाथ राम ने साफ-सफाई पर जोर देने की बात कही। मौके पर केयर बीएम कुंदन कुमार रौशन, केयर के कैश कोर्डिनेटर कुणाल कुमार, एलएस माधुरी कुमारी सहित आशा, आंगबाड़ी सेविका, विकास मित्र और स्थानीय जनप्रतिनिधि मौज़ूद रहे।

कोरोना को लेकर भी फैलाई गई जागरूकता :

चौपाल में चमकी बुखार के प्रति लोगों को जागरूक करने के अलावा कोरोना संक्रमण से बचने के बारे में भी बताया गया। हाथों की नियमित साफ-सफाई और सामाजिक दूरी के नियमों का पालन करने के बारे में बताया गया। कहीं भी भीड़ न लगाने और भीड़ वाली जगहों पर जाने से बचने की सलाह दी गई। लोगों को बताया गया कि चमकी बुखार की रोकथाम को लेकर सरकार हर स्तर पर सजग है। सरकारी अस्पताल में इसके इलाज की सभी सुविधाएं मौजूद हैं। इसलिए लोग ऐसी स्थिति में उधर-उधर पैसा और समय बर्बाद कर बच्चे की जान खतरे में न डालें।