महुआ प्रखंड में कोरोना पोजीटिव मिलते ही मची हड़कंप

0
78

 

लोगों ने पूरे प्रखंड के सभी पंचायतों को सेनीडाइज्ड करने की मांग की

वैशाली (जिला ब्युरो)।
महुआ में कोरोना वायरस मरीज मिलने से एक बार फिर हड़कंप मच गया है। शनिवार को जैसे खबर आई कि महुआ के एक प्रवासी को कोरोना पाया गया। वैसे ही चर्चा का बाजार गर्म हो गया और लोगों में दहशत का माहौल बन गया। हालांकि लोगों ने यह भी बताया कि कोरोना पॉजिटिव पाए गए व्यक्ति दिल्ली से आया था और महुआ में एक दिन क्वारंटाइन सेंटर पर निवास किया था। कोरोना पॉजिटिव पाए गए व्यक्ति का जब जर्नी हिस्ट्री खंगाला गया तो पता चला कि वह दिल्ली से अपने 7 अन्य साथियों के साथ महुआ आया था। यह भी बताया गया कि 31 मई की देर रात में उसे आने के कारण उसे क्वॉरेंटाइन में नहीं लिया गया और घर भेज दिया गया था। जबकि ग्रामीणों के द्वारा हंगामा करने पर उसे दूसरे दिन सभी साथियों के साथ 01 जून को हाजीपुर भेजा गया था। महुआ मंगुराही पंचायत के सरपंच पति श्याम प्रकाश सिंह ने बताया कि उक्त व्यक्ति गांव में आकर एक दिन रुका था और उनके द्वारा प्रशासन को सूचना देने पर हाजीपुर भेजा गया था। उन्होंने यह भी बताया कि कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति के संपर्क में आए लोगों को जांच के लिए भेजा जाना जरूरी है। इधर यह सूचना से महुआ के मंगुराही पंचायत के तरौरा गांव में हड़कंप है। इधर स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि उसे महुआ क्वॉरेंटाइन सेंटर से हाजीपुर भेजा गया था। कोरोना पॉजिटिव के भाई की इस संक्रमण से हो चुकी है दिल्ली में मौत बताया गया है कि कोरोना पॉजिटिव पाए गए व्यक्ति की भाई की मौत दिल्ली में इस संक्रमण से हो गई है। यह भी बताया गया कि बीते 22 मई को भाई का अंतिम संस्कार करने के बाद वह घर के लिए चला था। इस बीच वह अपने सात साथियों के साथ महुआ के वैशाली विद्यालय क्वॉरेंटाइन सेंटर पर उतरा जहां क्वॉरेंटाइन में दाखिला लेने का समय समाप्त हो जाने कारण उसे नहीं लिया गया था। इसी कारण वह घर चला गया और दूसरे दिन स्थिति खराब होने के कारण सभी को हाजीपुर जांच के लिए भेजा गया था।