पूरे महीने को मनाया जाएगा मलेरिया जागरुकता माह : डॉ सतीश

0
213

जिला संवाददाता की रिपोर्टः

– सभी प्रखंडों में मलेरिया माह की हुई शुरुआत

मुजफ्फरपुर। 6 जून
जून माह को मलेरिया जागरुकता माह के रुप में मनाया जाएगा। इसकी शुरुआत शनिवार को समाहारणालय, सदर अस्पताल सहित जिले के सभी प्राथमिक और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर की गयी। सदर अस्पताल में मलेरिया जागरुकता माह की शुरुआत करते हुए जिला संचारी रोग रोकथाम पदाधिकारी डॉ सतीश कुमार ने कहा कि बरसात का मौसम शुरु होने वाला है ऐसे में मलेरिया रोग के बढ़ने की आशंका बनी रहती है। इस लिहाज से पूरे माह को मलेरिया जागरुकता माह के रुप मे मनाने का संकल्प लिया गया है। इसके तरह प्रत्येक पीएचसी/सीएचसी को 2 बैनर तथा 2000 पंपलेट दे दिए गये हैं। वही उनसे कहा गया है कि कोरोना संक्रमण को ध्यान मे रखते हुए सोशल मीडिया के माध्यम से प्रचार -प्रसार पर ज्यादा जोर दिया जाए।

ओपीडी में आए बुखार के मरीज की होगी जांच
डॉ सतीश कुमार ने सभी सभी अस्पतालों को निर्देश दिया है कि वे ओपीडी में आए वैसे मरीज जिन्हें ठंड लगकर बुखार की शिकायत हो उनकी आवश्यक रुप से स्लाइड से मलेरिया की जांच की जाए। इसके लिए पर्याप्त मात्रा में सभी प्रखंडों में स्लाइड की उपलब्धता सुनिश्चित की गयी है। केटीएस को भी प्रशिक्षण दिया जा चुका है। ये कालाजार के रोकथाम के साथ मलेरिया के प्रति लोगों को जागरुक करेगें।

मलेरिया क्या है
यह एक प्रकार का बुखार है जो ठण्ड या सर्दी (कॅंपकपी) लग कर आता है। मलेरिया रोगी का रोजाना या एक दिन छोडकर तेज बुखार आता है। जो मादा एनोफिलीज मच्छर के काटने से होता है।

मलेरिया का कारण
मलेरिया का कारण है मलेरिया परजीवी कीटाणु जो इतने छोटे होते है कि उन्हें सिर्फ माइकोस्कोप ही देखा जा सकता है। ये परजीवी मलेरिया से पीडित व्यक्ति के खून मे पाये जाते है। इनमें मुख्य है –

1. प्लाजमोडियम वाइवैक्स

2. प्लाजमोडियम फैल्सीफेरम

मलेरिया केसे फैलता है
मलेरिया जीवन चक्र के दो प्रवाह होते है, जिससे यह रोग बहुत तेजी से फैलता हैः-

मलेरिया के रोगी को काटने पर असंक्रमित मादा एनोफेलिज मच्छर रोगी के खून के साथ मलेरिया परजीवी को भी चूंस लेते हैं व 12-14 दिनों मे ये मादा एनोफेलिज मच्छर भी संक्रमित होकर मलेरिया फेलाने मे सक्षम होते है तथा जितने भी स्वस्थ्य मनुष्यों को काटते है। उन्हें मलेरिया हो जाता है। इस तरह एक मलेरिया रोगी से यह रोग कई स्वस्थ्य मनुष्य में फैलता है।

मलेरिया के लक्षण
– अचानक सर्दी लगना (कॅंपकॅंपी लगना ,अधिक से अधिक रजाई कम्बल ओढना)।

– फिर गर्मी लगकर तेज बुखार होना।

– पसीना आकर बुखार कम होना व कमजोरी महसूस करना।