जमीनी विवाद को लेकर भाई ने भाई को किया हत्या!

0
158

पातेपुर से बिजय कुमार की रिपोर्ट
पातेपुर प्रखण्ड एवम तिसिऔता थाना क्षेत्र के तिसीऔता पंचायत अंतर्गत पिंडाउता बुजुर्ग गांव में गुरुवार की आधी रात में एक 22 बर्षीय युवक की मौत तो रहस्यमय बताई जा रही थी किन्तु शनिवार को मृतक मामा महुआ निवासी सियाराम सिंह,पिता स्व रामशोभित सिंह ने तिसिऔता थाना में आवेदन देकर उसका हत्या किए जाने का खुलासा किया है।इस कांड में पुलिस ने एक आरोपी जितेंद्र सिंह को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.प्राप्त जानकारी के अनुसार पिंडाउता बुजुर्ग निवासी कन्हैया सिंह उर्फ कन्हैया राज की छत पर से गिरने या फाँसी लगाकर आत्महत्या का मामला कहा जा रहा था .किन्तु मामा के आवेदन के बाद उसके सगा बड़ा भाई जितेंद्र सिंह पिता स्व उपेंद्र सिंह एवम उनकी पत्नी के विरुद्ध हत्या कर देने के बाद नया मोड़ ला दिया है.मृतक के मामा ने तिसिऔता
थाना में आवेदन देकर अपने बड़े भांजा जितेंद्र सिंह को बुलाकर हत्या करने का आरोप लगाया है.मिली आवेदन के आधार पर तीसीऔता थाना अध्यक्ष नित्यानंद प्रसाद ने प्राथमिकी दर्ज कर तत्काल मुख्य आरोपी जितेंद्र सिंह को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.बताते चले कि गुरुवार देर रात 22 बर्षीय कन्हैया सिंह के मौत की सुबह सूचना मिलते ही थानाध्यक्ष नित्यानंद प्रसाद ने सूचना मिलते ही वहाँ पहुँच शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम हेतु सदर अस्पताल हाजीपुर भेज दिया.दूसरे दिन ही मृतक के मामा सियाराम सिंह ने थाने में आवेदन देकर बड़े भांजा एवम उसकी पत्नी को नामजद बनाते हुए हत्या कर देने का आरोप लगाया है.मामा का कहना है कि मृतक कन्हैया सिंह महमद पुर गया हुआ था जिसे फोन के माध्यम से बुलाया गया था और रात्रि में उसकी हत्या कर दी गई वहीं सियाराम सिंह ने यह भी बताया कि मेरी बहन एवम बहनोई की भी मौत हो चुकी है.
आवेदन में बताया गया है कि जमीनी विवाद में भाई एवम भौजाई से अक्सर झंझट हुआ करता था.
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मृतक के पिता कन्हैया के नाम से महुआ में 14 धुर जमीन भी था जिसको लेकर भी भाई भौजाई द्वारा दवाब पड़ने पर वह पंजाब के लुधियाना भाग गया था दो साल पर मृतक जनवरी में घर आया था तब से घर पर ही रह रहा था .आरोपी जितेंद्र सिंह का अपने पड़ोसी से भी अच्छा सम्बन्ध नही बताया जा रहा है.
वही इस संबंध में पूछे जाने पर थानाध्यक्ष नित्यानंद प्रसाद ने बताया कि आवेदन के आधार पर मुख्य आरोपी जितेंद्र सिंह को गिरफ्तार कर जेल भेज चुके है और साथ कि घटना की हर पहलू पर अनुसंधान शुरू कर दी गई है।