कोरोनटाईन सेंटर पर हंगामा, प्रवासियों ने बतायी हो रही अनियमितता. 

0
90

वैशाली जिला संवाददाता की रिपोर्टः

वैशाली जिला के लालगंज प्रखंड में दूसरे प्रदेशों से वापस आ रहे प्रवासियों को अवध बिहारी सिंह महाविद्यालय में रखा गया है. लगभग दो सौ की संख्या में पांच दिन से रह रहे प्रवासी मजदूरों ने कहा कि हमारे रहने खाने और सोने के लिए कोई समुचित ब्यवस्था नहीं है. साथ ही साफ सफाई की भी ब्यवस्था नहीं है. मात्र एक बाथरूम है और लगभग दो सौ प्रवासी मजदुरों को ,सुबह में नित्य क्रिया से निपटने के लिए बाउंड्री के बाहर जाना पड़ता है. बाहर जाते ही गांव के लोगों द्वारा पैसा और मोबाईल छीने जाने की बात बताई जाती है. साथ ही न समय पर खाना ,न समय पर चाय, न ही रूम को सेनेटाइज और न ही साफ, सफाई. प्रवासियों ने ये भी कहा कि जानवरों से भी बदतर जिंदगी से अच्छा है कि हमें घर जाने दिया जाए. इस मामले में कोरोनटाईन प्रभारी से बात नहीं हो पायी. वे बात करने से इंकार कर गये. प्रवासी मजदुरों ने काफी रोष में और आक्रोशित दिख रहे थे. साथ ही सरकार की इस ब्यवस्था को कोस रहे थे. कोरोनटाईन सेंटर का निरीक्षण करने आए प्रखंड विकास पदाधिकारी राधारमण मुरारी ने बताया कि हमारी तरफ से ब्यवस्था में कोई कमी नहीं है. प्रवासियों पर हमले की बात मिथ्या बताया गया है. वहीं प्रवासियों ने एक स्वर में कहा कि सुविधा नहीं है तो अपने अपने घर वापस जाने दिया जाए.