प्रवासी मजदूर खुद कर रहे हैं कोरोंटाइन

0
110

चेहरा कलां वैशाली।

चेहराकलां प्रखंड में लाॅक डाउन में तामिलनाडु, उड़िसा व बंगाल से 16 प्रवासी मजदूर खुद को अपने अपने गृही विद्यालय में कोरोन्टाईन कर रहे हैं।उन में से उत्क्रमित मध्य विद्यालय बस्ती सरसिकन को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।
उत्क्रमित मध्य विद्यालय बस्ती सरसिकन में खुद को कोरोन्टाइन कर  13 प्रवासी मजदूर विकास कुमार, संजय कुमार,लालबाबु कुमार,अजय कुमार, रुपेश कुमार, राजेश कुमार,रविकांत कुमार, मुकेश कुमार, रीतेश कुमार, मनोज कुमार सभी गांव निवासी बस्ती सरसिकन,शिव कुमार, विवेक कुमार गांव किशुनपुर तेलौर के निवासी हैं ने कहा कि तामिलनाडु के त्रिपुर शहर में मजदुरी कर परिवार का भरण-पोषण किया करते थे। कोरोनावायरस जैसे महामारी संक्रमण को लेकर सरकार ने सूरक्षा के मद्देनजर लाॅक डाउन लगाया। जिसके कारण हमलोगों कम्पनी काम देना बंद कर दिया।जब तक रुपया था तब तक रुका रहा।तब हमलोगों ने त्रिपुर के जिलाधिकारी से गुहार लगाई कि खाने के लिए रुपये नहीं है। जिलाधिकारी ने  लिखित पत्र देकर विहार लौटने की अनुमति दे दिया। उसके बाद हमलोग अपने किराया से गांव लौटे हैं। हयलोगों को गांव में  प्रवेश नहीं करने दे रहे थे। प्रखंड स्तरीय कोरोन्टाइन सेन्टर की कोशिश की ।पर प्रवेश की अनुमति नहीं मिली।हमलोगों को जांच नहीं किया जा रहा है। प्रशासन से कोई मदद नहीं मिला है। अंततः गांव वालों से आरज़ विनती के बाद उत्क्रमित मध्य विद्यालय बस्ती सरसिकन में खुद को कोरोन्टाईन कर रहा। सरकारी निर्देशानुसार का अनुपालन कर रहा हूं।  सबसे बड़ी बात यह है कि उक्त विद्यालय में कोई शिक्षक की प्रतिनियुक्ति नहीं हुई है
राजकीयकृत उत्क्रमित उच्च  माध्यमिक विद्यालय तालसेहान में उड़ीसा व बंगाल से लौटे प्रवासी मजदूर अजय पासवान, देवेन्द्र कुमार,लखीन्द्र रंजक, कमलेश कुमार,पिन्टु कुमार
समेत अन्य ने बताया कि मजदुरी कर परिवार का भरण-पोषण किया करते थे। सरकार ने कोरोनावायरस को लेकर लॉक डाउन लागु कर दिया। जिसके कारण मजदुरी करने की बात दुर रही। जैसे ही हम मजदूरों के पास कुछ रुपये बचा तो बंगाल व उड़िसा सरकार के जिलाधिकारी से गुहार लगाई कि हमलोगों को आवश्यकता की सामग्री उपलब्ध कराई जाय अन्यथा घर लौटने तक की अनुमति दिलायी जाय। अनुमति मिलते ही अपनी खर्च से गांव तालसेहान लौटे।गांव वाले प्रवेश की अनुमति नहीं दे रहे थे। स्थानीय उत्क्रमित मध्य विद्यालय तालसेहान के प्रधान शिक्षक दिनेश राय ने बीडीओ अवधेश कुमार व अंलाधिकारी लवकेश शर्मा को सूचना दिया।
बीडीओ अवधेश कुमार राय ने बी एन उच्च विद्यालय सेहान स्थित कोरेन्टाईन सेन्टर में भेजने की अनुमति दी गई। प्रवासी मजदूर ने कहा कि हम सभी ठीक है। प्रवासियों ने कहा गांव के विद्यालय में सरकारी निर्देशानुसार  लाॅक डाउन के नियमों कि अनुपालन करते हुए कोरोन्टाइन  कर लें। विद्यालय के प्रधानाध्यापक  श्री राम ने बताया कि बीडीओ अवधेश कुमार राय द्वारा शिक्षक अवधेश कुमार की प्रतिनियुक्ति कर दी गई। प्रवासियों के व्यवस्था नहीं हुई। लेकिन उसकी प्रक्रिया तेज गति से प्रारम्भ हो गया है।
इस मामले में मथना मिलिक पंचायत के सरपंच सह जदयू नेता लालदेव कुशवाहा ने कहा कि जनप्रतिनिधियों की बैठक आयोजित कर निर्देशित किया गया था कि पंचायत , गांव,टोला, मोहल्ला में प्रवासियों के आने पर सूचित किया जाय। ताकि कोरोन्टाईन सेन्टर में रखा जाएगा।ऐसी स्थिति हो गई है कि प्रवासी के आने की सूचना देने के लिए पदाधिकारी गण मोबाइल उठाना उचित नहीं समझते।जिसका नतीजा है कि प्रवासी बिना कोई डर के घुमते दिखाई देते हैं। इसके अलावा प्रखंड अन्य हिस्सों से लोगों द्वारा सूचनाएं मिल रही।
फोटो
 बायें से विकास कुमार, रंजन,लालबाबु,अजय, रुपेश कुमार,शिव कुमार, राजकिशोर कुमार,रविकांत, मुकेश कुमार रीतेश कुमार, मनोज कुमार कमलेश कुमार,लखीन्द्र रंजक समेत अन्य शामिल है