बुद्ध पूर्णिमा विशेष: बुद्ध जयंती पर सैंड आर्टिस्ट मधुरेन्द्र ने दुनियां को दिया अपने घर में सुरक्षित रहने का संदेश।

0
81

मुंगेर: पूर्वी चंपारण से आये मशहूर सैंड आर्टिस्ट मधुरेन्द्र ने गुरुवार को बुद्ध पूर्णिमा के अवसर पर बुद्ध भगवान का मूर्ति लालदरवाजा स्थित गंगा नदी किनारें पहली बार पांच घंटे की कठिन मेहनत के बाद बालू की रेत पर बुद्ध भगवान का मूर्ति बनाकर कुछ खास अंदाज में भगवान बुद्ध का जयंती याद किया। उक्त अवसर पर अपनी सुंदर कलाकृतियों से भगवान बुद्ध द्वारा दुनियां को शान्ति का संदेश दिया, ठीक उसी प्रकार से मधुरेन्द्र ने कलाकृति के माध्यम से देश को कोरोना महामारी से बचाने के लिए लोगों से अपने घर मे रहने का संदेश दिया।

मधुरेन्द्र ने बताया कि मैं इतना दुःखी हूं कि कोरोना जैसा जानलेवा महामारी से बचने के लिए आये दिन देश में कोरोना के बढ़ते संक्रमण से लोग ग्रसित हो रहे हैं, और वैसे लोग जो कोरोना के गाल में समा चुके हैं, उन सब परिवार के लिए अपनी हृदय से गहरी संवेदना व्यक्त की। मधुरेन्द्र ने लोगों से घर में रहकर सुरक्षित और बुद्धिमानी से कोरोना से लड़ाई में अपने परिवार, समाज, और देशहित में भागीदारी सुनिश्चित करने की अपील की।

बात दे कि सैंड आर्टिस्ट मधुरेन्द्र का कहना है कि हम कई राष्ट्रीय- अंतराष्ट्रीय उत्सवों में सामाजिक कुरूतियों पर जागरूकता का तथा राष्ट्रीय दिवसों पर रेत की आकृतियां बना कर समाज को संदेश दे चुके हैं।