प्रशांत किशोर ने नीतीश कुमार को बताया BJP का ‘पिछलग्गू’

0
319

प्रशांत किशोर ने नागरिकता कानून के सिलसिले में नीतीश कुमार को ‘पिछलग्गू’ कहा था

पटना:

चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने जनता दल यूनाइटेड से निलंबन के बाद पटना में अपने पहले संवाददाता सम्मेलन में जहां एक ओर बिहार के विकास के बारे में करीब बीस आंकड़े पेश किए, वहीं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को भाजपा का ‘पिछलग्गू’ बता डाला था. जिसमें जनता दल यूनाइटेड के नेताओं का कहना है कि ऐसे शब्द का इस्तेमाल आपत्तिजनक है और वह भी ऐसे व्यक्ति के मुंह से जिसने नीतीश कुमार को पिछले पांच वर्षों में सबसे नजदीक से देखा है.   नीतीश कुमार के समर्थक मानते हैं कि अब वह उतने आक्रामक नहीं रहे जितना भाजपा के साथ 2017 में सरकार बनाने के पूर्व तक थे.

प्रशांत किशोर का कहना है कि जब वो उन्हें ‘पिछलग्गू’ कहते हैं तो उनके जैसे लोगों के सामने नीतीश कुमार का वह दृश्य होता हैं, जब वह सार्वजनिक मंच से पटना विश्वविद्यालय को केंद्रीय विश्वविद्यालय का दर्जा देने की मांग करते हैं और प्रधानमंत्री खारिज कर देते हैं. इसके अलावा जब वह लोकसभा चुनाव में 40 में से 39 सीटों पर जीत दिलाते हैं लेकिन केंद्रीय मंत्रिमंडल में उनकी अनुपातिक प्रतिनिधित्व की मांग खारिज कर दी जाती है. जब बिहार को बाढ़ से राहत दिलाने के लिए वह निर्मल और अविरल गंगा के लिए बालू के गाद का समाधान करने की मांग करते हैं, जब नदियों को जोड़ने की योजना हो या विशेष राज्य का दर्जा, सब पर केंद्र सरकार कुंडली मारकर बैठ जाती है. नीतीश सत्ता के चक्कर में मौन साध लेते हैं.