न्यायलय के आदेश पर समूहिक दुष्कर्म का मामला हुआ दर्ज

0
87

कायमगंज: कोतवाली क्षेत्र के गाँव भुकसा निवासी राम व्रज ने न्यायलय मे शिकायती पत्र देकर जिसमे कहा है कि दिनाक 10 अक्तूबर 2018 को मेरी पत्नी अपनी वहन के वीमार पुत्र के इलाज हेतु I 2300 रू० लेकर उसके गाँव कंचनपुर थाना सहावर जनपद कासगंज में घर पर जाने हेतु गॉवं से टैक्सी पर वैठाकर आ रही थी अचानक प्रार्थी की पत्नी को चक्कर आने पर टैक्सी वाले ने सादिक खाँ के नकासे वाली बाग के सामने प्रार्थी की पत्नी को उतार दिया वह वही पर नीम के पेड के नीचे छाया मे लेट गयी उसी समय प्रार्थी के पडोसी गाँव पचरोली के छगे पुत्र अज्ञात व उसके साले रामऔतार पुत्र होरी लाल ब चचेरा साला नन्हे पुत्र अज्ञात निवासी गण मथना थाना उसावा जनपद बदायूँ जो कि अक्सर प्रार्थी के गॉवं मे आते जाते पत्नी से रिश्तेदारी का बहाना बनाकर उक्त सभी लोग षडयन्त्र करके प्रार्थी की पत्नी को वो तल लेकर पानी भरी लाये पानी के बाद प्रार्थी की पत्नी बेहोश होने लगी तव उक्त तीनो लोग इलाज के बहाने प्रार्थी की पत्नी की ६ंगे के घर गाँव पचरोली ले गये जहाँ पर प्रार्थी की पत्नी को छगे ने एक न्त मे बने कमरे मे रखा और रात मे द्द गे एव उसके साथ मौजूद सा ले रामऔतार एंव नन्हे ने धमकाकर प्रार्थी की पत्नी को छगे ने एकान्त के कमरे मे रखा और रात मे ६ंगे एव उसके साथ मौजूद सा ले रामऔतार एवं नन्हे ने धमकाकर प्रार्थी की पत्नी के साथ बारी बारी से बलात्कार किया विरोध पर उक्त सभी लोग प्रार्थी की पत्नी को भयभीत करके मोटरसाईकिलो से रामऔतार व नन्हे के गाँव मथना थाना उसावा जनपद बदायूँ लेकर चले गये जहाँ करीव 11 दिनतक प्रार्थी की पत्नी को बन्धक बनाकर मुल्जिम सामुहिक दुष्कर्म करते रहे 22 अक्तूवर 2018 को समय करीव 8 बजे रात्रि मुल्जिम शराव के नशे मे थे उसी समय प्रार्थी की पत्नी चुपचाप निकल आई और प्रार्थी के घर पर दिनाक 23 दिसम्बर 2018 को घटना के वावत जानकारी दी प्रार्थी ने घटना की रिपोर्ट थाना कायमगंज मे दे दी थी परन्तु जाँच क बहाना कर के आजतक कोई कानूनी कार्यवाही नीकी गयी मुल्फिमान प्रभावशाली एवं राजनैतिक व्यक्ति है जिनके विरुद्ध कोई कार्यवाही करने से पुलिस कतरा रही है तव प्रार्थी ने दिनाक 24 दिसम्बर 2018 को श्रीमान पुलिस अधिक्षक महोदय को प्रार्थना पत्र देकर कार्यवाही की मांग की लेकिन कोई कार्यवाही नही हुई न्यायलय के निर्देश पर आज पुलिस ने  महिला को  मेडीकल  परीक्षण के लिए भेजा।